ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारचिकन मसाला खरीदने उतरे जवान का अपहरण, पकड़ौआ शादी के बाद वापस छोड़ गए किडनैपर

चिकन मसाला खरीदने उतरे जवान का अपहरण, पकड़ौआ शादी के बाद वापस छोड़ गए किडनैपर

बिहार के भागलपुर से पकड़ौआ विवाह की एक घटना सामने आई है। होमगार्ड जवान चिकन मसाला खरीदने के लिए बाइक से उतरा, लेकिन किडनैपरों ने उसे किडनैप कर लिया और पूर्णिया ले जाकर उसका जबरन पकड़ौआ विवाह करा दिया।

चिकन मसाला खरीदने उतरे जवान का अपहरण, पकड़ौआ शादी के बाद वापस छोड़ गए किडनैपर
Ratanलाइव हिंदुस्तान,भागलपुरTue, 11 Jun 2024 04:14 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार का पकड़ौआ विवाह लोगों के बीच काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। पकड़ौआ शादी में लड़के को किडनैप करके उसकी शादी किसी लड़की के साथ जबरदस्ती करा दी जाती है। ऐसी ही एक वारदात बिहार के भागलपुर से सामने आई है। यहां भी होमगार्ड के एक जवान को पहले किडनैप किया गया फिर उसको तकरीबन 100 किलोमीटर दूर पूर्णियां ले जाकर पकड़ौआ विवाह करा दिया गया। 

पीड़ित होमगार्ड जवान सुमित कुमार नवगछिया थाना क्षेत्र के सकुचा का रहने वाला है। सुमित के भाई वीरेंद्र ने नवगछिया थाने में लिखित में बयान देकर एफआईआर दर्ज कराई है। लोगों के जरिए पता चला है कि सुमित ने होमगार्ड जवान की ट्रेनिंग पूरी की है और सोमवार से नवगछिया थाने में उसकी ज्वाइनिंग होनी थी, लेकिन ज्वाइनिंग से पहले ही उसको पकड़कर जबरन शादी के बंधन में बांध दिया गया है। 

सुमित के भाई ने सुनाई पूरी दास्तां
सुमित के भाई वीरेंद्र ने घटना के बारे में विस्तार से बताया। मेरा भाई सुमित अपने चचेरे भाई प्रभास के साथ मोटरसाइकल से अपने मामा के घर जगतपुर गया हुआ था। सुमित मामा के घर बकाया 1 लाख रुपया लेने गया था। वापस आते समय उसे रुपयों के साथ दो मुर्गे भी दिए थे। रास्ते में लौटते समय सुमित ने चिकन बनाने के लिए चिकन मसाला खरीदने के लिए बाइक रोकी, लेकिन तभी स्कॉर्पियो सवार कुछ लोगों ने सुमित को जबरन हथियार के बल पर किडनैप कर लिया। पकड़ करने वालों में गोपाल यादव नाम का शख्स भी शामिल था। पूर्णिया ले जाकर सुमित की शादी इसी गोपाल यादव की बेटी के साथ जबरदस्ती कराई गई है। इस बीच सुमित और उसके चचेरे भाई के साथ मारपीट भी हुई है। 

घटना के बाद बीच सड़क छोड़कर भागे किडनैपर
जबरन शादी के बाद किडनैपर सुमित को बीच रास्ते छोड़कर भाग गए। इसके बाद सुमित ने जैसे-तैसे करके पूरी घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी। इसके बाद घरवालों ने पुलिस से संपर्क कर सुमित को बचाने के लिए गुहार लगाई तब जाकर सुमित और उसके चचेरे भाई को खोजा जा सका। इसके बाद से घटना में शामिल आरोपियों की खोजबीन जारी है। पुलिस ने धोबिनिया के गोपाल यादव, रोहित यादव, भीली कुमार और अश्विनि कुमार को आरोपित बनाया है। फिलहाल सुमित का मेडिकल टेस्ट हो चुका है और आरोपितों की खोजबीन जारी है।