DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर बिहार में आंधी और वज्रपात से पांच की मौत, कई जगहों पर गिरे ओले 

hailstorm in bihar

तेज आंधी-पानी व ओलावृष्टि के बीच हुए वज्रपात (आकाशीय बिजली) से मंगलवार को उत्तर बिहार में जान-माल का भारी नुकसान हुआ। दैवीय आपदा में पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि दर्जनों जख्मी हो गए। मरने वालों में तीन दरभंगा और दो समस्तीपुर के हैं। ओलावृष्टि से फसलों को भी भारी नुकसान पहुंचा है।

दरभंगा के बेनीपुर प्रखंड की तरौनी पंचायत के विश्वनाथपुर तरौनी गांव में आंधी-बारिश के दौरान गिरी दीवार के नीचे दबकर 60 वर्षीया जगतारण देवी की मौत हो गई। सिंहवाड़ा प्रखंड में ओलावृष्टि और वज्रपात से पकरिहार निवासी सहदेव यादव की पत्नी सुखनी देवी और खपरहिया गांव निवासी दिव्यांग मो. सब्बीर की मौत हो गई। सब्बीर खेत से घर लौट रहा था, तभी तेज तूफान और बारिश में फंस गया। सोमवार रात और मंगलवार की सुबह हुई भारी बारिश और ओलावृष्टि से दरभंगा जिले के कई प्रखंडों में फसलों को भारी नुकसान हुआ है। कई कच्चे घर धराशायी हो गए।

उधर, समस्तीपुर के मुक्तापुर गांव में वज्रपात की चपेट में आने से लालबाबू पासवान की पत्नी संगीता देवी और मुफस्सिल थाने के सिलौत के रंजीत पासवान की जान चली गई।

गोवर्धना में फंसे श्रद्धालुओं को सुरक्षित निकाला
पश्चिम चंपारण के बगहा में बारिश व ओलावृष्टि के कारण बड़ी संख्या में श्रद्धालु फंस गए। रामनगर प्रखंड के गोवर्धना थाना क्षेत्र में चैत्र नवरात्र पर सोमेश्वर स्थान जा रहे श्रद्धालुओं की यात्रा उस समय रोक दी गई, जब बारिश के साथ ओले गिरने लगे। एसएसबी व वन विभाग की टीम ने यात्रियों को सुरक्षित निकाला। जिले के चार प्रखंडों नरकटियागंज, गौनाहा, मैनाटांड़ और सिकटा में भी आधी-पानी से व्यापक क्षति हुई है।

मधुबनी में ब्लैक आउट, रीगा में रेल सेवा पर असर
मंगलवार को आंधी-पानी व ओलावृष्टि का असर मधुबनी में भी दिखा। यहां दर्जनों फीडर ब्रेकडाउन हो गए। इससे जिले में ब्लैक आउट की स्थिति पैदा हो गई। आंधी के दौरान रीगा में रेल ट्रैक पर पेड़ गिरने से कुछ देर के लिए रेल सेवा भी बाधित रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Heavy rainfall and hailstorm in Bihar 5 dead in North Bihar due Thunderstorms