ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारहीटवेव के बीच एक्टिव हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, बिहार के अस्पतालों को दिए ये निर्देश

हीटवेव के बीच एक्टिव हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, बिहार के अस्पतालों को दिए ये निर्देश

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों को निर्देश देते हुए कहा कि मरीजों को सरकारी योजना के तहत मुफ्त दवाइयां मिलती रहें।

हीटवेव के बीच एक्टिव हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, बिहार के अस्पतालों को दिए ये निर्देश
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाWed, 12 Jun 2024 10:00 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में पड़ रही भीषण गर्मी और हीटवेव के हालात के बीच स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों को जरूरी निर्देश दिए हैं। मंत्री ने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में दवा की उपलब्धता सुनिश्चित हो। बुधवार को राज्य स्वास्थ्य समिति के सभागार में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत संचालित योजनाओं, भीषण गर्मी और लू से उत्पन्न समस्या की समीक्षा की। सिविल सर्जन, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य और अधीक्षक एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों के साथ समीक्षा के दौरान मंत्री ने स्वास्थ्य से जुड़े सभी पहलुओं पर आवश्यक निर्देश दिए।

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने सिविल सर्जन से कहा कि अस्पतालों में मरीजों को मुफ्त दवा के लिए न्यूनतम 300 दवाएं अनिवार्य रूप रहे। राज्य स्तर से जिलों के अस्पतालों में दवाओं की उपलब्धता की साप्ताहिक समीक्षा की जाए। बता दें कि मॉनसून आने से पहले राज्यभर में खासकर दक्षिण बिहार के जिले इस वक्त भीषण हीटवेव की चपेट में हैं। इससे लगातार लोग बीमार पड़कर अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। हीटवेव से हो रही मौतें भी सरकार के लिए चिंता का विषय बनी हुई है।

बिहार के 15 जिले हीटवेव की चपेट में, पटना समेत इन शहरों में भीषण गर्मी का रेड अलर्ट

बुधवार को नवादा जिले के एक आवासीय कन्या विद्यालय की 12 छात्राएं गर्मी की वजह से बेहोश होकर गिर पड़ीं। उन्हें आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया। लू की वजह से अस्पतालों के ओपीडी में भी बड़ी संख्या में मरीज पहुंच रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने समीक्षा बैठक करके मरीजों को समुचित इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने स्पष्ट किया है कि अस्पतालों में दवाई की कमी न आए। लोगों को सरकारी योजनाओं के तहत मुफ्त इलाज और दवाई मिलती रहनी चाहिए।

Advertisement