DA Image
24 सितम्बर, 2020|7:29|IST

अगली स्टोरी

2600 एकड़ में फैला होगा ग्रेटर पटना, ब्लूप्रिंट तैयार, 3 साल में बदल जाएगी इलाके की तस्वीर

smart city  smart city patna  greater patna  patna district administration  smart city in bihar

ग्रेटर पटना का प्रशासनिक खाका लगभग तैयार हो गया है। पटना के 7 प्रखंडों कर 2600 एकड़ भूमि ग्रेटर पटना का हिस्सा बनेगी। इसमें करीब 500 गांव लाभान्वित होंगे, जबकि 16 लाख 81 हजार जनसंख्या को विशेष तौर पर लाभ होगा। 

आगामी तीन सालों में ग्रेटर पटना के इलाके की तस्वीर बदल जाएगी। प्रथम चरण में यातायात सुविधाएं बढ़ेंगी। उसके बाद आवासीय क्षेत्र विकसित किए जाएंगे। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री ने मंगलवार को ग्रेटर पटना के इलाके का मुआयना कर अधिकारियों को समुचित निर्देश दिए। 

ग्रेटर पटना में सबसे अधिक इलाका मनेर प्रखंड का होगा। इस प्रखंड की 480 एकड़ भूमि ग्रेटर पटना के हिस्से में जाएगी, जिसमें 49 गांव सम्मिलित होंगे। दूसरे नंबर पर बिहटा प्रखंड होगा, जिसकी 477 एकड़ भूमि इस क्षेत्र में आएगी। इस प्रखंड के 100 गांव इससे लाभान्वित होंगे। इसी प्रकार नौबतपुर की 430 एकड़, बिक्रम की 362 एकड़, दानापुर की 360 एकड़,  फुलवारीशरीफ की 291 एकड़ तथा संपतचक की 198 एकड़ भूमि ग्रेटर पटना में शामिल होगी।

सबसे अधिक नौबतपुर प्रखंड के 109 गांव इससे लाभान्वित होंगे। इन प्रखंडों में 16 लाख 81 हजार 341 लोग रह रहे हैं, जिन्हें ग्रेटर पटना का सबसे अधिक लाभ मिलेगा। भविष्य में ग्रेटर पटना का विस्तार फतुहा, दुल्हिन बाजार, पालीगंज तक करने की कार्य योजना है लेकिन यह दूसरे चरण में होगा। वैसे तो ग्रेटर पटना में बिहटा, नौबतपुर, शिवाला, नेउरा, सदिसोपुर के अलावा कन्हौली एक ऐसा प्वाइंट होगा, जो भविष्य में सबसे अधिक विकसित होने की उम्मीद है। क्योंकि यह पटना के रिंग रोड के बीच का हिस्सा होगा। 

दानापुर से बिहटा की दूरी 20 मिनट में तय होगी
ग्रेटर पटना का सबसे महत्वपूर्ण परियोजना दानापुर से बिहटा तक एलिवेटेड रोड का निर्माण है। इस सड़क का डीपीआर लगभग तैयार हो गया है। जल्द ही इस दिशा में काम शुरू होगा। अधिकारियों का कहना है कि अगले 4 सालों में इस सड़क को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। एलिवेटेड रोड हो जाने से दानापुर से बिहटा तक का सफर महज 20 मिनट में तय किया जा सकेगा।

रिंग रोड की महत्वपूर्ण परियोजना
पटना रिंग रोड का एक हिस्सा लगभग बनकर तैयार हो गया है। दूसरे हिस्सा का लेआउट तैयार करने का काम शुरू हो गया है। अधिकारियों का कहना है कि दनियावां से कन्हौली तक तथा कन्हौली से शेरपुर होते हुए दनियावां तक सड़क रिंग रोड के रूप में होगी। इससे पटना शहर के दोनों हिस्से से वाहन निकल सकते हैं। कन्हौली से उत्तर दिशा में दिघवारा, जहां नया पुल बनाया जा रहा है। दिघवारा से पूरब होते हुए सड़क संबलपुर चली जाएगी। फिर संबलपुर से दनियावां में सड़क मिल जाएगी। इस प्रकार रिंग रोड बनने से भारी वाहनों को कन्हौली से दोनों तरफ से वाहनों को निकलने का रास्ता मिल जाएगा।

एयरपोर्ट से बढ़ेंगी गतिविधियां
बिहटा में बन रहे एयरपोर्ट के लिए भूमि अधिग्रहण का काम लगभग पूरा कर लिया गया है। जिला प्रशासन का कहना है कि अगले 3 साल के अंदर एयरपोर्ट और आसपास के इलाके को पूरी तरह से विकसित कर लिया जाएगा। इसके लिए संबंधित एजेंसी के साथ लगातार बैठक चल रही है।

ग्रेटर पटना के विकास के लिए संबंधित एजेंसी और अधिकारियों के साथ नियमित बैठक हो रही है। इस दिशा में काम भी चल रहा है। प्रशासन की ओर से कार्यों की निगरानी भी की जा रही है। अगले कुछ वर्षों में ग्रेटर पटना में बहुत कुछ बदलाव हो जाएगा। 
- कुमार रवि डीएम पटना। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:greater patna to be spread over 2600 acres administrative blueprint ready picture of area will change in 3 years