ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार विधान परिषद में महागठबंधन की बढ़ेगी ताकत, एमएलसी चुनाव के बाद एनडीए को नुकसान

बिहार विधान परिषद में महागठबंधन की बढ़ेगी ताकत, एमएलसी चुनाव के बाद एनडीए को नुकसान

बिहार विधान परिषद की 11 सीटों पर मार्च में चुनाव होने वाले हैं। इसके बाद उच्च सदन में महागठबंधन के सदस्यों की संख्या बढ़ जाएगी, वहीं एनडीए की घट जाएगी।

बिहार विधान परिषद में महागठबंधन की बढ़ेगी ताकत, एमएलसी चुनाव के बाद एनडीए को नुकसान
Jayesh Jetawatएचटी,पटनाFri, 23 Feb 2024 08:14 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में एमएलसी की 11 सीटों पर चुनाव की घोषणा हो गई है। मार्च में होने वाले चुनाव के बाद बिहार विधान परिषद में महागठबंधन की ताकत बढ़ जाएगी। आरजेडी नीत महागठबंधन की राज्य के अपर हाउस में दो सदस्य बढ़ जाएंगे। वहीं, एनडीए की दो सीटें घटने की संभावना है। 

चुनाव आयोग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 4 मार्च को विधान परिषद चुनाव का नोटिफिकेशन जारी होगा। 11 फरवरी तक नामांकन किए जाएंगे। इसके बाद 21 मार्च को खाली सीटों पर चुनाव के लिए वोटिंग होगी। इसी दिन रिजल्ट भी जारी कर दिया जाएगा। बिहार विधानसभा में अभी एनडीए के पास 128 विधायक हैं। इनमें बीजेपी के 78, जेडीयू के 45, हम के 4 और एक निर्दलीय विधायक शामिल हैं। वहीं, महागठबंधन के विधायकों की संख्या 114 है, जिसमें से आरजेडी के 79, कांग्रेस के 19 और वाम दलों के 16 एमएलए हैं।

एमएलसी चुनाव की एक सीट पर जीत दर्ज करने के लिए कम से कम 22 विधायकों का समर्थन जरूरी है। इस आधार पर देखा जाए तो महागठबंधन की 5 सीटें पक्की मानी जा रही हैं। वहीं, एनडीए 6 सीटों पर जीत दर्ज कर सकता है।

महागठबंधन की सीटें बढ़ेंगी, एनडीए की घटेंगी
बिहार विधान परिषद की जिन 11 सीटों पर अगले महीने चुनाव होगा, उनमें अभी 8 एनडीए तो तीन महागठबंधन के पास हैं। ऐसे में देखा जाए तो चुनाव के बाद महागठबंधन की सदन में ताकत बढ़ जाएगी। इसके दो सदस्य और जुड़ जाएंगे। वहीं, एनडीए को दो सदस्यों का नुकसान होगा।

बता दें कि विधान परिषद की जो 11 सीटें खाली हो रही हैं, उनमें जेडीयू से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, संजय झा (अब राज्यसभा सांसद बन गए हैं), खालिद अनवर और रामेश्वर महतो शामिल हैं। वहीं बीजेपी से सैयद शाहनवाज हुसैन, मंगल पांडेय और संजय पासवान का टर्म पूरा हो रहा है। हम से मंत्री संतोष कुमार सुमन भी रिटायर होने वाले हैं। आरजेडी से पूर्व सीएम राबड़ी देवी और रामचंद्र पूर्वे का कार्यकाल पूरा हो रहा है। जबकि कांग्रेस से प्रेम चंद्र मिश्रा रिटायर होने जा रहे हैं।

सीटों का बंटवारा कैसे होगा?
एमएलसी चुनाव में दोनों गठबंधन में सीट शेयरिंग फॉर्मूला अभी तय नहीं हुआ है। बिहार के डिप्टी सीएम एवं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कहा कि सबकुछ आसानी से हो जाएगा। सीट शेयरिंग फॉर्मूला केंद्रीय नेतृत्व द्वारा ही तय किया जाएगा। वहीं, जेडीयू के नीरज कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही प्रत्याशियों पर अंतिम फैसला लेंगे। 

दूसरी ओर, महागठबंधन में आरजेडी से 3 सदस्यों के जीतने की पूरी संभावना है। इसके अलावा कांग्रेस और वाम दलों से भी एक-एक सदस्य निर्वाचित हो सकते हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि सीट शेयरिंग पर महागठबंधन में कोई तकरार नहीं है। कांग्रेस एक सीट पर नामांकन करेगी, बाकी सीटों पर आरजेडी फैसला लेगी। कांग्रेस से किसे प्रत्याशी बनाया जाएगा, इसका फैसला दिल्ली में होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें