ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारसमस्तीपुर में प्रसाद खाने के बाद 100 से अधिक लोग बीमार, अस्पताल में भर्ती

समस्तीपुर में प्रसाद खाने के बाद 100 से अधिक लोग बीमार, अस्पताल में भर्ती

समस्तीपुर पूजा का प्रसाद खाने के बाद 100 से अधिक लोग बीमार हो गए हैं। उल्टी, दस्त, और सिर दर्द की समस्या के बाद सभी को पीएचसी मोहिउद्दीननगर व अनुमंडलीय अस्पताल पटोरी में भर्ती कराया गया है।

समस्तीपुर में प्रसाद खाने के बाद 100 से अधिक लोग बीमार, अस्पताल में भर्ती
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,समस्तीपुरMon, 19 Feb 2024 10:46 PM
ऐप पर पढ़ें

समस्तीपुर जिले के मोहिउद्दीननगर थाना क्षेत्र की बोचहा पंचायत में पूजा का प्रसाद खाने के बाद 100 से अधिक लोग बीमार हो गए हैं। उल्टी, दस्त, चक्कर आना और सिर दर्द की समस्या के बाद सभी को पीएचसी मोहिउद्दीननगर व अनुमंडलीय अस्पताल पटोरी में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों के अनुसार, सभी रोगी खतरे से बाहर हैं। रोगियों की संख्या और अधिक होने की संभावना है। मोहिउद्दीननगर पीएचसी की टीम मौके पर कैंप कर रही है। चिकित्सकों ने बताया कि फूड प्वाइजनिंग के कारण सभी बीमार हुए हैं। लगभग पांच दर्जन रोगियों को पीएचसी मोहिउद्दीननगर और पांच दर्जन रोगियों को अनुमंडलीय अस्पताल पटोरी में भर्ती कराया गया है। 

जानकारी के अनुसार, मोहिउद्दीननगर प्रखंड की बोचहा पंचायत स्थित वार्ड 13 निवासी स्वर्गीय धुनिलाल पासवान के पुत्र राजीव पासवान व संजीव पासवान ने शनिवार को अपने घर पर शिवचर्चा आयोजित की थी। इस मौके पर शनिवार देर शाम सत्यनारायण भगवान की पूजा हुई। पूजा के बाद केला-दूध मिश्रित प्रसाद का वितरण हुआ। कहा जा रहा है कि प्रसाद खाने पर शनिवार मध्य रात्रि के बाद लोगों को उल्टी-दस्त, सिर दर्द, चक्कर जैसी शिकायतें शुरू हो गईं। 

रविवार को सभी बीमार लोगों का इलाज कराया गया लेकिन सोमवार सुबह तक रोगियों की संख्या बढ़ने पर उन्हें पीएचसी मोहिउद्दीननगर लाया गया। वहां पांच दर्जन लोगों की चिकित्सा शुरू हो गई। रोगियों की संख्या बढ़ने पर लगभग 5 दर्जन रोगियों को एंबुलेंस से अनुमंडलीय अस्पताल, पटोरी लाया गया। अनुमंडल अस्पताल पटोरी के चिकित्सक डॉ. आनंद प्रकाश व डॉ. निहाल ने बताया कि सभी रोगी खतरे से बाहर हैं। उनकी चिकित्सा की जा रही है। प्रसाद खाने के बाद फूड प्वाइजनिंग के कारण घटना हुई है। अनुमंडलीय अस्पताल में आए रोगियों में सुधार हो रहा है। स्थिति में सुधार होने पर उन्हें घर भेज दिया जाएगा। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें