DA Image
2 दिसंबर, 2020|11:11|IST

अगली स्टोरी

उत्तर बिहार में बाढ़ का कहर जारी, चंपारण में दो बांध टूटे, दर्जनों गांवों में मची तबाही

                        -

उत्तर बिहार की नदियों में उफान से बाढ़-कटाव के साथ ग्रामीणों के विस्थापन की समस्या और विकट होती जा रही है। गुरुवार को भी बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक सहित अधिकांश छोटी पहाड़ी नदियां भी कई जगहों पर लाल निशान से ऊपर बहती रहीं। बाढ़ का पानी घरों में घुसने से हजारों लोग विस्थापित हो गए हैं। लोगों ने सामुदायिक भवन, स्कूल,बांध व एनएच पर शरण ले रखा है।

पश्चिम चंपारण के मझौलिया में सिकरहना में का जमींदारी बांध टूट गया। इससे इलाके ढ़ाई हजार परिवार बाढ़ के खतरों से घिर गये हैं। सैकड़ों एकड़ में लगी फसलें डूब गई हैं।  वाल्मीकिनगर बराज से 2.18 लाख क्यूसेक पानी गंडक में छोड़ा गया। गंडक में उफान से बैरिया में चंपारण बांध में रिसाव होने लगा है। हालांकि जलसंसाधन विभाग की टीम ने बालू भरे बैग से रिसाव को तत्काल बंद किया है। मगर खतरा बढ़ा हुआ है। गंडक का पानी वाल्मीकिनगर, बगहा, ठकराहा, भितहा, बैरिया व नौतन के दो दर्जन से अधिक गांवों में घुस गया है। तटबंध के भीतर के लोगों के रात में ही निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। सिकरहना का पानी चनपटिया व लौरिया के तीन दर्जन से अधिक गांवों में घुस गया है। लौरिया-रामनगर व लौरिया-नरकटियागंज पथ पर आवागमन ठप है। सिकटा में सिकटा पदी में उफान है। बेतिया-सिकटा-मैनाटांड़ पथ पर तीन फीट पानी बह रहा है। दोनों प्रखंडों का संपर्क जिला से भंग हो गया है।

पूर्वी चंपारण के रामगढ़वा में पखनहिया पंचायत के कलिकापुर में तिलावे नदी पर मनरेगा से बना बांध करीब बीस फीट में टूट गया। बांध टूटने से सैकड़ों एकड़ में लगी फसल डूब चुकी है।  जिले के आठ प्रखंडों में बाढ़ तबाही मचा रही है। सुगौली की पांच पंचायतों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क भंग हो गया है। अरेराज व सुगौली में तटबंध पर भारी दबाव बना है।

मुजफ्फरपुर के पारू व साहेबगंज की लगभग दो दर्जन पंचायत के घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है, वहीं औराई, कटरा व गायघाट में भी बड़ी संख्या में लोग विस्थापित हुए हैं। विस्थापितों के बीच अभी तक किसी तरह की सहायता नहीं पहुंचायी गई है। बागमती, लखनदेई और मनुषमारा की मार से औराई-कटरा की स्थिति ज्यादा विकट है।

मिथिलांचल पर भी संकट कायम :
 दरभंगा  में सिंहवाड़ा प्रखंड के अतरबेल -भरवारड़ा  पथ पर रामपुरा में बाढ़ का पानी चढ़ गया है। केवटी में भी रनवे- रैयाम मार्ग पर बाढ़ का पानी चढ़ गया। रैयाम पावर सबस्टेशन में पानी घुसने के बाद बिजली आपूर्ति पूरी तरह ठप हो गई है। दरभंगा में बागमती के अलावा सगुना का पानी भी तेजी से फैला है, जिससे दो दर्जन पंचातयों कें बाढ़ का पानी घुस गया है। उधर, बाजपट्टी-सीतामढ़ी मुख्य पथ में पेट्रोल पम्प और गेनपुर गांव के मध्य पानी के तेज बहाव से आवागमन प्रभावित हो गया है।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:flood havoc in north bihar two dams in champaran broken devastation in dozens of villages Samastipur Darbhanga Madhubani Motihari Bettiah