ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारचार बच्चों का पिता है हरियाणा गैंगरेप का दोषी; कोर्ट ने बिहार के 4 रेपिस्टों को दी फांसी की सजा, जानें पूरा मामला

चार बच्चों का पिता है हरियाणा गैंगरेप का दोषी; कोर्ट ने बिहार के 4 रेपिस्टों को दी फांसी की सजा, जानें पूरा मामला

हरियाणा में दो नाबालिग बहनों से गैंगरेप और फिर हत्या के दोषियों को सोनीपत कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। चारों आरोपी बिहार के रहने वाले हैं। जिसके बाद अब आरोपियों के घर में मातम पसरा है।

चार बच्चों का पिता है हरियाणा गैंगरेप का दोषी; कोर्ट ने बिहार के 4 रेपिस्टों को दी फांसी की सजा, जानें पूरा मामला
Sandeepहिन्दुस्तान,दरभंगाSun, 26 Nov 2023 09:08 AM
ऐप पर पढ़ें

हरियाणा के सोनीपत कोर्ट ने दो नाबालिग बहनों के साथ गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में 4 आरोपियों को दोषी करार देते हुए फांसी की सजा सुनाई है। चारों दोषी बिहार के रहने वाले हैं। इसमें तीन दरभंगा और एक समस्तीपुर जिले के है। फांसी की सजा की जानकारी मिलने के बाद से आरोपियों के घर मातम पसरा है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। दरभंगा के बिरौल थाना इलाके के मजरगाही गांव से रोजी-रोटी कमाने के लिए हरियाणा गए अरुण पंडित को भी दुष्कर्म के आरोप में सोनीपत कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया है। मां का रो-रोकर बुरा हाल है। तो वहीं पत्नी सदमे में हैं। 

चार बच्चों का पिता है गैंगरेप का दोषी
आरोपी अरुण चार बच्चों का बाप है। पत्नी को अब अपने चारों बच्चों के भविष्य की चिंता सता रही है। वहीं अरुण के पिता अग्रिम अपील के लिए हरियाणा रवाना हो गए हैं। वहीं गांव के लोग भी इस घटना से दंग हैं। ग्रामीणों का कहना है कि बीमार पिता की पारिवारिक स्थिति खराब रहने के चलते वो कमाई के लिए हरियाणा गया था। वहां राजमिस्त्री का काम करता था। दो साल पहले जानकारी मिली कि अरुण को अपने तीन दोस्तों के साथ नाबालिग लड़कियों से गैंगरेप और हत्या के मामले में अभियुक्त बनाया गया है। इस बीच कोर्ट में सुनवाई के दौरान फांसी की सजा मिलने की जानकारी मिलते ही परिवार में मातम छा गया। 

क्या है पूरा मामला?
मालूम हो कि बिरौल थाना क्षेत्र के मजगाही गांव के अरुण पंड़ित और दरभंगा जिले के ही मसहोरी गांव के फूलचंद, झकेली गांव के दुखन पंडित और समस्तीपुर के बाड़ा गांव के निवासी रामसुहाग ने सोनीपत के कुंडली इलाके में 5 अगस्त 2021 को पड़ोस की ही दो नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म कर जहर खिलाकर हत्याकर दी थी। इस मामले में पीड़ितों के परिजनों के आवेदन पर 9 अगस्त 2021 को कुंडली थाने में पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसके बाद सोनीपत कोर्ट में सुनवाई के दौरान अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश सुरुचि अतरेजा सिंह ने 24 नवंबर को चारों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें