DA Image
Thursday, December 9, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारविधानसभा उपचुनाव-2021: ..... तो राजद के लोग लालू यादव को कहें भकचोन्हर, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने लालू यादव पर उन्हीं के हथियार से किया वार

विधानसभा उपचुनाव-2021: ..... तो राजद के लोग लालू यादव को कहें भकचोन्हर, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने लालू यादव पर उन्हीं के हथियार से किया वार

हिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाSudhir Kumar
Wed, 27 Oct 2021 10:27 AM
विधानसभा उपचुनाव-2021: ..... तो राजद के लोग लालू  यादव को कहें भकचोन्हर, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने लालू यादव पर उन्हीं के हथियार से किया वार

हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने लालू प्रसाद के हथियार से लालू पर ही करारा प्रहार कर दिया है। इसके साथ मांझी ने राजद नेताओं पर भी निशाना लगा दिया है। जीतन राम मांझी ने ट्वीट करके कहा है कि राजद के लोग लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को भकचोन्हर कहें। उन्होने ट्वीट  किया है कि पहले लालू प्रसाद दलित को भकचोन्हर कहेंगे, फिर उनके लोग उस अपशब्द का विश्लेषण कर पुन: उस दलित को अपमानित करेंगे। यही राजद का संस्कार है। श्री मांझी ने आगे कहा है कि व्याकरण के ज्ञाता राजद नेताओं अगर ‘भकचोन्हर’ सही शब्द है तो फिर लालू प्रसाद या तेजस्वी यादव को भक्चोन्हर संबोधित करिए ना। कुशेश्वरस्थान के ग्यासपुर में चुनावी सभा में पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि जिस लालू-राबड़ी के शासनकाल में दलित-महादलित को अपमानित किया जाता रहा वे कुशेश्वरस्थान के विकास को अवरुद्ध करने के लिए अपना उम्मीदवार देकर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन वे यह भूल जाते हैं कि विकास का स्वाद चख चुके हमारे समाज के लोग एक-एक मत एनडीए को देंगे।

क्या बताएंगे लालू प्रसाद

एक दूसरे ट्वीट में पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा है कि भ्रष्टाचार, जंगलराज, दलित नरसंहार सहित कई मामलों पर आदरणीय लालू प्रसाद जी भाषण देंगे और यह बताएंगे कि घोटाला कैसे किया जाता है। दलित नरसंहार की जरूरत क्यों पड़ी। 15 साल का जंगलराज बिहार के लिए क्यों जरूरी था। दलितों के लिए भकचोन्हर जैसे शब्दों का प्रयोग क्यों करते हैं।

एक अणे मार्ग से होती थी हत्या की प्लानिंग

इससे पहले जीतन राम मांझी ने आरोप लगाया कि राजद के शासनकाल में हत्या की प्लानिंग एक अणे मार्ग में बनती थी और अगले दिन हत्या और नरसंहार होता था। आज भी बिहार में 60 प्रतिशत हत्या राजद के लोग करवाते हैं।


 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें