ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारNEET पेपर लीक के सारे सबूत, दस्तावेज EOU ने CBI को सौंपे; जानिए अब तक क्या-क्या हुआ?

NEET पेपर लीक के सारे सबूत, दस्तावेज EOU ने CBI को सौंपे; जानिए अब तक क्या-क्या हुआ?

नीट पेपर लीक की जांच में जुटी सीबीआई की दो सदस्यीय टीम आज पटना पहुंची। और ईओयू से केस से जुड़े सारे सबूत और दस्तावेज हासिल किए। इस बीच EOU-CBI के अधिकारियों की मैराथन बैठक हुई।

NEET पेपर लीक के सारे सबूत, दस्तावेज EOU ने CBI को सौंपे; जानिए अब तक क्या-क्या हुआ?
Sandeepहिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाMon, 24 Jun 2024 08:59 PM
ऐप पर पढ़ें

नीट-यूजी पेपर लीक जांच की जिम्मेवारी संभालने के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की दो सदस्यीय टीम सोमवार को दिल्ली से पटना पहुंची। इस टीम ने आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) के अफसरों के साथ पूरे दिन बैठक की और इस मामले में अब तक इकट्ठा किये गये साक्ष्य और दस्तावेज को ईओयू से प्राप्त किया। इसके पहले सीबीआई की टीम पटना के स्थानीय सीबीआई कार्यालय से आईजी और एसपी रैंक के अधिकारियों को अपने साथ लेकर पूर्वाह्न करीब 11 बजे ईओयू कार्यालय पहुंची। 

सीबीआई के अधिकारियों ने ईओयू के एडीजी से लेकर डीआईजी, एसपी रैंक के अधिकारियों से मुलाकात की और पूरे मामले की विस्तार से जानकारी प्राप्त की। एडीजी और डीआईजी से अलग-अलग भी टीम ने मुलाकात की। ईओयू कार्यालय में बैठक के दौरान नीट पेपर लीक मामले में पहली छापेमारी एवं शुरुआती तफ्तीश करते हुए एफआईआर दर्ज करने वाले शास्त्रीनगर थाना के प्रभारी को भी बुलाया गया था। इनसे भी सीबीआई टीम ने केस में की गई कार्रवाई की जानकारी हासिल की।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सीबीआई की टीम ने ईओयू से उन दस्तावेजों और साक्ष्यों को खासतौर देखा एवं जानकारी ली, जिसके आधार पर प्रश्न-पत्र लीक होने की बात पुख्ता होती है। हजारीबाग के सेंटर से मिले साक्ष्य के बारे में विशेष तौर से जानकारी ली। जितने संदिग्धों की गिरफ्तारी हुई है, जितने फरार चल रहे हैं, उनके बारे में भी जानकारी ली और गिरफ्तार अभियुक्तों के साथ ही संदिग्ध अभ्यर्थियों से की गई पूछताछ से संबंधित सभी दस्तावेज भी प्राप्त किए। 

यह भी पढ़िए- NEET पेपर लीक में अब 'रॉकी' की एंट्री; EOU की पूछताछ में चिंटू ने उगले कई राज, बड़ी साजिश का पर्दाफाश

अब तक दो एफआईआर
नीट पेपर लीक मामले में बिहार में दो एफआईआर हुई है। एक एफआईआर 5 मई को पटना के शास्त्रीनगर थाना में दर्ज हुई थी। इसी के आधार पर पटना पुलिस से लेकर ईओयू तक ने अब तक की तफ्तीश की है। दूसरी एफआईआर ईओयू के स्तर से एक महीने से ज्यादा समय से तफ्तीश के बाद 22 जून को दर्ज की गई है। इसका मुख्य आधार देवघर से की गई चिंटू समेत 5 शातिरों की गिरफ्तारी है।

पेपर लीक मामले के मुख्य अभियुक्तों की फेहरिस्त में चिंटू का नाम है। रॉकी, अतुल वत्स, अंशुल सिंह समेत अन्य कई मुख्य सेटर अभी फरार चल रहे हैं। सीबीआई की चुनौती इन तक पहुंचने की होगी। पटना पुलिस और ईओयू ने नीट पेपर लीक मामले में अब तक 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। 

यह भी पढ़िए- NEET Paper Leak: चिंटू समेत 6 शातिरों से EOU की पूछताछ पूरी, खुलेंगे कई राज, जेल भेजे गए सभी आरोपी

अभ्यर्थी सोनू से कुछ घंटे ही हुई पूछताछ
ईओयू कार्यालय में सोमवार को एक संदिग्ध अभ्यर्थी सोनू कुमार पिता के साथ पहुंचा। उसे ईओयू ने नोटिस जारी कर 19 जून को पूछताछ के लिए बुलाया था। परंतु वह उस दिन नहीं पहुंच सका था। वह सहरसा जिला के नौहट्टा थाना के नारायणपुर सताउर का रहने वाला है।

जिससे ईओयू की जांच टीम ने कुछ घंटे ही पूछताछ की और वापस लौटा दिया क्योंकि मामला सीबीआई को स्थानांतरित होने के बाद ईओयू के स्तर से सघन पूछताछ का कोई औचित्य नहीं बनता है। इस मामले में ईओयू 15 अभ्यर्थियों को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुला चुकी थी, लेकिन 4 से ही पूछताछ हो पाई।