ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबहुत हुआ इंतजार...बिहार के विशेष राज्य दर्जे के लिए चलेगा सबसे बड़ा अभियान; भीम संसद में केंद्र पर बरसे नीतीश

बहुत हुआ इंतजार...बिहार के विशेष राज्य दर्जे के लिए चलेगा सबसे बड़ा अभियान; भीम संसद में केंद्र पर बरसे नीतीश

जदयू की भीम संसद में एक बार फिर से सीएम नीतीश ने ऐलान किया कि बिहार के विशेष राज्य का दर्जा के लिए सबसे बड़ा अभियान चलेगा। इस दौरैान उन्होने केंद्र पर मदद न करने का आरोप लगाया।

बहुत हुआ इंतजार...बिहार के विशेष राज्य दर्जे के लिए चलेगा सबसे बड़ा अभियान; भीम संसद में केंद्र पर बरसे नीतीश
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाSun, 26 Nov 2023 02:21 PM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी पटना के वेटनरी ग्राउंड में आयोजित जेडीयू की भीम संसद में सीएम नीतीश कुमार ने जमकर केंद्र सरकार को घेरा। और सरकारी योजनाओं में पक्षपात करने का आरोप लगाया। नीतीश कुमार ने कहा कि अब बिहार में सबसे बड़ा अभियान विशेष राज्य के दर्जे के लिए चलेगा। अगर बिहार को 2.50 लाख करोड़ मिल जाए तो राज्य का विकास 5 साल की बजाय 2 साल में ही हो जाएगा। इस विशेष अभियान के लिए सभी का साथ चाहिए। नीतीश ने हाथ उठवाकर लोगों से समर्थन मांगा। 

केंद्र पर निशाना साधते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि विशेष राज्य के दर्जे की मांग हम कितने दिन से कर रहे हैं। लेकिन नहीं हुआ। अब फिर हम चाह रहे हैं। केंद्र सरकार कहती है, मदद कर रहे हैं। लेकिन आप मदद कर क्या रहे हैं। कोई काम होता है तो 40 फीसदी मदद राज्य सरकार करती है, 60 फीसदी केंद्र सरकार करती है। लेकिन कहीं नहीं लिखते की केंद्र और राज्य ने मिलकर काम किया। सिर्फ केंद्र का प्रचार होता है। वो चाहे जो करें, हम लोगों को विकास के लिए 40 फीसदी केंद्र को देना पड़ता है। लेकिन अगर विशेष राज्य का दर्जा मिल जाए तो बिहार का विकास तेजी से होगा। 

यह भी पढ़िए- केंद्र विशेष राज्य का दर्जा दे तो दो साल में बिहार से गरीबी हट जाएगी, नीतीश कुमार का दावा

सीएम नीतीश ने कहा कि अब बिहार में सबसे बड़ा अभियान विशेष राज्य के दर्जे के लिए चलेगा। इसके लिए आप सभी का साथ चाहिए होगा। 2 लाख से ज्यादा लोगों ने हाथ उठाकर इस अभियान को समर्थन दिया है। नीतीश ने अपील करते हुए कहा कि पत्रकार लोग भी इस अभियान के साथ जुड़ें और ट्वीट करके ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस बारे में जानकारी दें। बिहार में नई आरक्षण नीति के बारे में बताते हुए नीतीश ने कहा कि मुस्लिम वर्ग और महादलित वर्ग के लिए हम लोगों ने बहुत काम किया।

नीतीश ने कहा कि बिहार में जाति आधारित गणना कराई। जिसमें सभी जातियों की आबादी का पता चल गया। जिसमें कई जातियों की आबादी बढ़ गई। और अब उसी हिसाब से आरक्षण भी बढ़ा है। अब अनुसूचित जाति का आरक्षण 16% की बजाय 20% किया। एसटी के लिए 1% की बजाय 2% किया। पिछड़े वर्गों (ओबीसी) के लिए 12% की बजाय 18% और अत्यंत पिछड़ा वर्ग (EBC) के लिए 18 फीसदी की बजाय 25% आरक्षण किया। साथ ही गरीब परिवारों को 2 लाख के अनुदान की मदद की जाएगी।

इससे पहले भीम संसद में जनसैलाब देखकर नीतीश कुमार काफी खुश नजर आए। और कहा कि इतनी बड़ी संख्या में लोग आए। ये बड़ी बात है। मैदान छोटा पड़ जा रहा है। गांधी मैदान में कार्यक्रम कराना चाहिए था। साथ ही मंत्री अशोक चौधरी को भव्य कार्यक्रम कराने के लिए बधाई दी। आपको बता दें दावा किया जा रहा है कि भीम संसद में 2 लाख से ज्यादा दलित और पिछड़े वर्ग के लोग शामिल हुए।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें