ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मोटी कमाई के लालच में फंस गया इंजीनियर परिवार, साइबर ठगों ने 99 लाख ऐंठे

मोटी कमाई के लालच में फंस गया इंजीनियर परिवार, साइबर ठगों ने 99 लाख ऐंठे

पटना के रहने वाले इंजीनियर परिवार से साइबर ठगों ने 99 लाख की ठगी को अंजाम दे डाला। शेयर मार्केट में मोटी कमाई का लालच देकर सिविल इंजीनियर, उनके लेक्चरर भाई और बीटेक कर चुके बेटे से फ्रॉड किया।

 मोटी कमाई के लालच में फंस गया इंजीनियर परिवार, साइबर ठगों ने 99 लाख ऐंठे
Sandeepवरीय संवाददाता,पटनाTue, 20 Feb 2024 08:21 AM
ऐप पर पढ़ें

शेयर मार्केट में निवेश कर मोटी कमाई का लालच देकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहा है। ताजा मामले में साइबर ठगों ने शेयर मार्केट में भारी मुनाफे का लालच देकर दीघा निवासी सिविल इंजीनियर उनके लेक्चरर भाई और बीटेक कर चुके बेटे से 99 लाख रुपये ठग लिए। पीड़ितों ने एक महीने में 26 बार में रुपये ठगों के अलग-अलग खातों में ऑनलाइन स्थानांतरित किए।

इसी बहाने विधान सभा के प्रतिवेदक से भी 47 हजार रुपये की ठगी कर ली गई। पहले मामले में दीघा जबकि प्रतिवेदक की शिकायत पर साइबर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। दीघा थानेदार ब्रजकिशोर सिंह ने बताया कि 99 लाख की ठगी में मामले में जांच शुरू कर दी गई है।

संजय कुमार सिंह परिवार के साथ दीघा के पोलसन रोड स्थित अपार्टमेंट में रहते हैं। उनके भाई सरोज कुमार सिंह छपरा के राजेंद्र कॉलेज में गेस्ट लेक्चरर हैं। जबकि बेटे सौरभ कुमार ने बीटेक कर रखा है। पीड़ित ने बताया कि बीते जनवरी महीने में उनके भाई और बेटे को फेसबुक के माध्यम से शेयर मार्केट में निवेश की जानकारी मिली थी। जिसके बाद तीनों पेसेफिक ऑनलाइन क्लब नंबर-19 नाम की कंपनी के वाट्सएप ग्रुप से जुड़ गए। साइबर ठगों ने निवेश करने पर पीड़ितों को मोटा मुनाफा का झांसा दिया। जिसके बाद तीनों ने अपने-अपने खाते से लगातार शातिरों के बताए खाते में ऑनलाइन रुपये ट्रांसफर करने लगे।

जयपुर, हैदराबाद और छत्तीसगढ़ के खाते में मंगाए गए रुपये संजय कुमार सिंह ने पहली बार नौ जनवरी को कंपनी के खाते में चार लाख रुपये भेजे थे। बाद में पीड़ित, उनके भाई और बेटे ने 26 बार में कुल 99 लाख रुपये ठगों के खाते में स्थानांतरित कर दिए। पीड़ित आठ फरवरी को रुपये निकालने की योजना बना रहे थे। इसी दौरान उन्होंने पाया कि व्हाट्सएप ग्रुप के सारे संपर्क बंद हो गए हैं। इसके बाद उन्होंने ठगी की शिकायत 17 फरवरी को दीघा थाने में दर्ज कराई। ठगी के रुपये जयपुर, हैदराबाद और छत्तीसगढ़ के खाते में मंगाए गए हैं।

साइबर ठगों ने शेयर मार्केट के नाम पर विधान सभा प्रतिवेदक को 47 हजार रुपये का चूना लगा दिया। मूल रूप से जयपुर निवासी राहुल कुमार यादव विधान सभा में प्रतिवेदक के पद पर कार्यरत हैं। आठ फरवरी को उनके मोबाइल फोन पर शेयर मार्केट संबंधी एक व्हाट्सएप आया था। फोन करने पर शातिरों ने उन्हें बताया कि कंपनी में 10 हजार रुपये निवेश करने पर एक दिन में 25 हजार रुपये का मुनाफा दिया जाएगा। झांसा में आकर पीड़ित ने ठग के खाते में 47 हजार 800 रुपये भेज दिए। मुनाफा मांगने पर राहुल कुमार से 37 हजार 590 रुपये और मांगे गए। ठगी का अहसास होने पर पीड़ित ने 18 फरवरी को इस संबंध में साइबर थाने में मुकदमा दर्ज कराया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें