DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मासूमों पर 'मौत' का कहर, 13वें दिन मुजफ्फरपुर में आठ और बच्चों की मौत, 23 नये मरीज भर्ती

उत्तर बिहार में मुजफ्फरपुर समेत इसके आसपास के जिलों में चमकी-बुखार से बच्चों की मौत का सिलसिला कब रुकेगा, यह बड़ा सवाल बन गया है। इस बीमारी के प्रकोप के 13वें दिन एसकेएमसीएच और केजरीवाल अस्पताल में आठ और बच्चों की मौत हो गई। वहीं 23 नये मरीज इलाज के लिए आये। कुल मिलाकर 199 मरीज अभी तक सामने आ चुके हैं। इनमें अभी तक 72 बच्चों की मौत हो चुकी है। 

इस बीच गुरुवार को दूसरे दिन भी केन्द्रीय टीम बच्चों की मौत के कारणों को जानने के लिए केस हिस्ट्री बनाती रही। अबतक सार्वजनिक रूप से सामने आये मामले और विभागीय रिपोर्ट में विषमता से आंकड़ों के मुंह नहीं मिल रहे हैं। इस पर भी अधिकारी गंभीर हैं। फिलहाल मौत दर मौत से दोनों अस्पतालों में कोहराम मचा हुआ है। दिन भर चीत्कार से परिसर गूंजता रहा।  

एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ. एसके शाही व सीएस डॉ. एसपी सिंह के अनुसार गुरुवार को 19 बच्चे भर्ती हुए वहीं सात की मृत्यु हो गयी है। यह देर रात से लेकर दोपहर बाद तक की रिपोर्ट है। दूसरी ओर केन्द्रीय टीम ने सुबह में ही एसकेएमसीएच के पीआईसीयू का जायजा लिया। कई बच्चों का टीम के डॉक्टरों ने अपने स्तर से इलाज शुरू किया। वरीय निर्देश का असर भी दिखा। मरीजों के आसपास सफाइ की व्यवस्था दिखी। हालांकि मरीजों की संख्या अधिक होने से पीआईसीयू में एक ही बेड पर दो दो मरीजों को रख इलाज करने से डॉक्टरों की चिंता बढ़ी हुई है। 

केन्द्रीय टीम के प्रमुख डॉ. अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि अभी बीमारी क्या है, यह कन्फर्म नहीं है। लेकिन ज्यादातर बच्चों का लीवर बढ़ा हुआ है। कार्डियक अरेस्ट वाले भी बच्चे हैं। अधिकांश का ब्लड शुगर लेवल कम है। ऐसा क्यों है, इसके कारणों को ढूंढ़ा जा रहा है। ब्लड सेंपल जांच के लिए लिया गया है। इधर, अधिकारियों की मानें तो शुक्रवार को सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय एसकेएमसीएच में मरीजों का हाल देखने आ सकते हैं। इस दिशा में जरूरी तैयारी होती दिखी।  

13वें दिन इन आठ बच्चों ने तोड़ा दम : 
एसकेएमसीएच में पूर्वी चंपारण के चकिया के आठ वर्षीय आलोक कुमार, कांटी प्रखंड के दरियापुर कफेन की पांच वर्षीया निधि कुमारी, बेरई कटरा के चार वर्षीय विक्रांत कुमार, मड़वन रौतनिया के दीनानाथ कुमार, कटरा घनौर की पांच वर्षीया सीता कुमारी, पूर्वी चंपारण मधुबन के डेढ़ वर्षीय सुनील कुमार, कांटी के 12 वर्षीय सन्नी कुमार की मौत हो गयी। इसमें सन्नी कुमार, आलोक कुमार, सीता कुमारी को आज ही भर्ती किया गया था। केजरीवाल में इलाजरत सरैया बखरा के चिंटू कुमार की मौत हुई।  

बीते 24 घंटे में आये नये मरीज :

एसकेएमसीएच:
पूर्वी चंपारण के आठ वर्षीय आलोक कुमार, कांटी के दरियापुर कफेन की निधि कुमारी, कटरा धनौर की पांच वर्षीय सीता कुमारी, मीनापुर प्रखंड के सिवाईपट्टी की ढ़ाई वर्षीया खुशबू कुमारी, सदर थाना के भगवानपुर के तीन वर्षीय प्रियतम कुमार, कटरा राजाडीह के छह वर्षीय गनौर कुमार, अहियापुर जमालाबाद के 12 वर्षीय राजा कुमार, पूर्वी चंपारण फुलवरिया राजेपुर के दो वर्षीय मोहित कुमार, कांटी विशुनदत्तपुर के चार वर्षीय चंदन कुमार, बरूराज थाना के धूमनगर के तीन वर्षीय राजवीर कुमार, मुशहरी रजवाड़ा के सात वर्षीय अमरेश कुमार, मुशहरी प्रहलादपुर के 11 वर्षीय सुमन कुमार, मीनापुर के 14 माह के अभिषेक कुमार, अहियापुर चकमोहम्मद के सात वर्षीय नीतीश कुमार, सीतामढ़ी डुमरा के छह वर्षीय धीरज कुमार, मुशहरी के चार वर्षीय आयुष कुमार,  कांटी के 12 वर्षीय सन्नी कुमार, मड़वन रौतनिया के दीनानाथ कुमार। 

केजरीवाल में ये हुए भर्ती :
कांटी पंडित पकड़ी के दो वर्षीय शिवम कुमार, मीनापुर के तीन वर्षीय सैफ राजा, मोतीपुर मोरसंडी के नौ वर्षीय चंदन, कांटी दरियापुर के चार वर्षीय प्रिंस कुमार को भर्ती किया गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Eight more children died in Muzaffarpur on 13th day