ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारयादव, मुसलमान और कुशवाहा का..., बोल कर बुरे फंसे देवेश चंद्र ठाकुर; मुजफ्फरपुर कोर्ट में परिवाद दायर

यादव, मुसलमान और कुशवाहा का..., बोल कर बुरे फंसे देवेश चंद्र ठाकुर; मुजफ्फरपुर कोर्ट में परिवाद दायर

कोर्ट ने दायर परिवाद को सुनवाई पर रखा है। मुजफ्फरपुर के दिलीप कुमार कुशवाहा ने देवेश चंद्र ठाकुर के खिलाफ यह नालिसी वाद दायर कराया है। आरोप है कि सांसद ने इन जातियों को अपने बयान से आहत किया है।

यादव, मुसलमान और कुशवाहा का..., बोल कर बुरे फंसे देवेश चंद्र ठाकुर; मुजफ्फरपुर कोर्ट में परिवाद दायर
Sudhir Kumarप्रमुख संवाददाता, हिन्दुस्तान,मुजफ्फरपुरThu, 20 Jun 2024 12:20 PM
ऐप पर पढ़ें

सीतामढ़ी के नवनिर्वाचित सांसद अपने उस बयान को लेकर कानूनी पचड़े में घिर गए हैं जिसमें उन्होंने यादव, मुस्लमान और कुशवाहा का काम नहीं करने की बात कही थी। उनके खिलाफ मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में नालिसी दायर की गई है। अहियापुर के दिलीप कुमार कुशवाहा ने कोर्ट में परिवाद दायर कर इसे समाज में अस्थिरता फैलाने वाला वक्तव्य बताया है। साथ ही आरोप लगाया है कि इस बयान से लाखों लोगो को मानसिक आघात लगा है। कोर्ट ने परिवाद को ग्रहण करने के बिंदु पर सुनवाई के लिए रखा है। नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के सांसद देवेश चंद्र ठाकुर के बयान पर सोशल मीडिया भी जोरदार बहस छिड़ी है।

दाखिल परिवाद में बताया है कि सांसद निर्वाचित होने के बाद देवेश चंद्र ठाकुर ने सीतामढ़ी के परिहार और डुमरा में खुले मंच से अपना वक्तव्य दिया है। इसमें कहा कि सांसद चुनने के बाद जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र के साथ पुरे देश का प्रतिनिधित्व करता है लेकिन उन्होंने कहा कि जिन यादव, मुसलमान और कुशवाहा को काम पड़ेगा वह लालू यादव के पास जायेंगे। उनके इस वक्तव को सुनने के बाद परिवादी, गवाह और लाखों लोग आहत हुए है। धारा आपीसी  की धारा 501 और 505 के तहत परिवाद दाखिल की गई है। 

मुसलमानों से माफी मांगें देवेश चंद्र ठाकुर, सीतामढ़ी सांसद को JDU नेता अशफाक करीम ने दी नसीहत

यह मामला देवेश चंद्र ठाकुर के उस बयान से जुड़ा है जिसमें उन्होंने मुसलमान, यादव और कुशवाहा समाज पर उन्हें वोट नहीं देने का आरोप लगाया था। सीतामढ़ी लोकसभा सीट से देवेश चंद्र ठाकुर ने 2024 के चुनाव में 50 हजार से ज्यादा वोटों से राजद के उम्मीदवार अर्जुन राय परास्त किया। 2019 में इसी सीट पर जदयू के सुनील कुमार पिंटू 2 लाख से ज्यादा मतों से जीते थे। देवेश चंद्र ठाकुर को इसका मलाल है जो एक सभा के दौरान फूटकर बाहर निकल गया। सीतामढ़़ी में आभार सभा में उन्होंने कहा था कि यादव मुसलमान समाज के लोगों का बहुत सारा काम किया लेकिन वोट नहीं दिया। अब उनका कोई काम नहीं करेंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि कोईरी जाति के लोगों ने भी एनडीए को वोट नहीं दिया।

  देवेश चंद्र ठाकुर का यादव-मुसलमान वाले बयान पर यू-टर्न, बोले- ना किसी को रोका ना काम से मना किया

 

देवेश चंद्र ठाकुर के इस बयान पर जमकर सियासत हुई। विपक्षी राजद, कांग्रेस के साथ साथ जेडीयू में भी उनके इस बयान का विरोध हुआ। केसी त्यागी और अशफाक करीम ने उनके इस बयान आपत्ति जताई। अशफाक करीम ने तो यहां तक कह दिया वे मुसलमानों से माफी मांगें क्योंकि उनके बयान से पार्टी को नुकसान होगा। लेकिन बीजेपी के गिरिराज सिंह ने देवेश चंद्र ठाकुर के बयान का समर्थन किया। सोशल मीडिया पर देवेशचंद्र ठाकुर का बयान काफी चर्चा में रहा और जमकर बहस हुई।

Advertisement