ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनीतीश के कैबिनेट विस्तार में बीजेपी से कौन-कौन मंत्री? सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा दिल्ली तलब

नीतीश के कैबिनेट विस्तार में बीजेपी से कौन-कौन मंत्री? सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा दिल्ली तलब

बिहार के दोनों डिप्टी सीएम सम्राच चौधरी और विजय सिन्हा आज दिल्ली दौरे पर रहेंगे। इस दौरान बीजेपी आलाकमान के साथ बैठक में शामिल होंगे। जिसमें मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा संभव है।

नीतीश के कैबिनेट विस्तार में बीजेपी से कौन-कौन मंत्री? सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा दिल्ली तलब
Sandeepहिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाSat, 03 Feb 2024 02:32 PM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के बुलावे पर आज डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा दिल्ली रवाना होंगे। जानकारी के मुताबिक दोनों नेता पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे। सरकार में शामिल होने के बाद दोनों नेता डिप्टी सीएम बनने के बाद पार्टी नेताओं से मिलने पहली बार दिल्ली जा रहे हैं। राज्य में एनडीए सरकार बनने से पहले ये दोनों दिल्ली गए थे। बिहार में मंत्रिमंडल का विस्तार होना है। मंत्रियों के संभावित नाम को लेकर राज्य इकाई के वरिष्ठ नेताओं ने शुक्रवार को आलाकमान को ही इसके लिए अधिकृत किया है।

माना जा रहा है कि भाजपा कोटे से अभी 12-13 और मंत्री बनाए जाने हैं। वहीं 2020 के फॉर्मूले में बीजेपी के पास विधानसभा अध्यक्ष का भी पद था। ऐसे में पार्टी खेमे से इस बार कौन विधानसभा अध्यक्ष होगा। ये भी तय होना बाकी है। विस अध्यक्ष रह चुके विजय सिन्हा डिप्टी सीएम बन चुके हैं। इस बार पार्टी की कोशिश होगी। कि ऐसे अनुभवी विधायक को विस अध्यक्ष बनाया जाए जो सदन भी ठीक से चलाए, और सरकार के साथ समन्वय भी बेहतर हो। 

नए प्रदेश अध्यक्ष पर भी चर्चा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी राज्य के उपमुख्यमंत्री बन चुके हैं। लोकसभा चुनाव भी सिर पर है। ऐसे में उनके लिए मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष का पद एक साथ संभालना मुश्किल हो सकता है। इस कारण पार्टी अब नए प्रदेश अध्यक्ष की भी खोजबीन कर रही है। सूत्रों के मुताबिक पिछड़ा-अतिपिछड़ा कोटे से प्रदेश अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं। दावेदारों की सूची में 4-5 नाम चल रहे हैं। वैसे अंतिम निर्णय आलाकमान के स्तर से ही होगा। नई सरकार के गठन होने के साथ ही विधानसभा और विधान परिषद में सत्तारूढ़ दल के सचेतक, उपसचेतक के चार पदों में से दो पद भाजपा के हिस्से में आना तय है। 

वहीं बिहार भाजपा के लगभग डेढ़ दर्जन नेताओं की किस्मत खुल सकती है। पार्टी के 12-13 वरिष्ठ  विधायकों-विधान पार्षदों को मंत्री, दो को राज्यसभा सांसद, एक को विधानसभा अध्यक्ष, एक को प्रदेश अध्यक्षू, दो को सत्तारूढ़ दल का सचेतक या उपसचेतक बनाया जा सकता है। हालांकि इन महत्वपूर्ण पदों पर किस नेती का किस्मत खुलेगी, ये तो भाजपा आलाकमान ही तय करेगा। इस बाबत आलाकमान के बुलावे पर डिप्टी सीएम सह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी और उपमुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा आज दिल्ली रवाना होंगे।

इससे पहले शुक्रवार को प्रदेश भाजपा चुनाव समिति की बैठक हुई। राज्यसभा की खाली हो रही 6 सीटों में भाजपा को दो सीटें मिलनी तय हैं। सांसद सुशील मोदी का कार्यकाल खत्म हो रहा है। इन्हें दोबारा राज्यसभा भेजा जाएगा या नहीं य आलाकमान को ही तय करना है। इसके अलावा एक और नेता को पार्टी राज्यसभा भेजेगी। राज्य चुनाव समिति ने दोनों उपमुख्यमंत्रियों और संगठन महामंत्री को इसके लिए अधिकृत कर दिया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें