DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारपटना में कहर बरपा रहा है डेंगू, एक दिन में मिले 13 नए संक्रमित, 112 पर पहुंचा आंकड़ा, डॉक्टर ने दी यह सलाह

पटना में कहर बरपा रहा है डेंगू, एक दिन में मिले 13 नए संक्रमित, 112 पर पहुंचा आंकड़ा, डॉक्टर ने दी यह सलाह

वरीय संवाददाता,पटनाSneha Baluni
Tue, 26 Oct 2021 10:50 AM
पटना में कहर बरपा रहा है डेंगू, एक दिन में मिले 13 नए संक्रमित, 112 पर पहुंचा आंकड़ा, डॉक्टर ने दी यह सलाह

पटना में डेंगू का अब तेजी से प्रसार होने लगा है। सोमवार को एक साथ 13 नए डेंगू पीड़ित मिले। इनमें से 11 पीएमसीएच और दो अन्य अस्पतालों में मिले। पटना में अब डेंगू पीड़ितों की संख्या 112 पर पहुंच गई है। हालांकि, सिविल सर्जन कार्यालय को मिली सूची के अनुसार इनकी संख्या 99 पर ही है। 

डेंगू का प्रकोप धीरे-धीरे शहर के सभी हिस्से में फैलता जा रहा है। दानापुर से लेकर पटना सिटी तक के लगभग सभी मोहल्ले में डेंगू के मरीज मिलने लगे हैं। सोमवार को मिले संक्रमितों में से कई शास्त्रीनगर, राजीवनगर, पाटलिपुत्रा कॉलोनी, कदमकुआं, राजेंद्रनगर जैसे नए इलाके से भी है। 

वहीं पूर्व से डेंगू प्रभावित इलाके महेंद्रू और बाजार समिति से भी एक-एक मरीज मिले हैं। पुनाईचक के पोस्ट ऑफिस गली में भी तीन मरीज मिले हैं। हालांकि, तीनों ने एक निजी लैब में अपनी जांच कराई है। इस कारण सिविल सर्जन कार्यालय को इनकी सूची नहीं जोड़ी गई है। पटना में अब डेंगू पीड़ितों की संख्या 112 हो गई है।

पुनाईचक के बाद अब पटना सिटी, अगमकुआं, महेंद्रू, बाजार समिति, मुसल्लहपुर हाट, विजय नगर, खगौल और गोला रोड से भी डेंगू के मरीज सामने आ रहे हैं। पहले से डेंगू प्रभावित मोहल्लों न्यू पाटलिपुत्रा कॉलोनी, इंद्रपुरी, शिवपुरी, पटेलनगर, एजी कॉलोनी, शास्त्रीनगर के अलावा कंकड़बाग से भी लगातार इक्के-दुक्के मरीज मिल रहे हैं। 

कंकड़बाग के एक निजी लैब संचालक ने बताया कि प्रतिदिन डेंगू के शक में लगभग 80 से 90 लोग अपनी जांच कराने आ रहे हैं। उनमें से चार से पांच लोग डेंगू पीड़ित मिल रहे हैं। बताया कि शहर के अन्य इलाके में स्थित लैब में भी डेंगू के केस लगातार मिल रहे हैं।  

पीएमसीएच के प्राचार्य डॉ. बीपी चौधरी ने बताया कि सोमवार को कुल 24 बुखार पीड़ितों की जांच माइक्रोबायोलॉजी लैब में की गई। इनमें से 11 डेंगू पीड़ित मिले। यह इस साल एक दिन में अबतक का सर्वाधिक केस है। बताया कि डेंगू वार्ड में अभी चार मरीज भर्ती हैं। पीएमसीएच में प्लेटलेट्स से लेकर डेंगू की दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता है। 

बिना सलाह के दवा लेना पड़ रहा भारी

बिना डॉक्टर के सलाह के दवा लेना भी कई मरीजों को भारी पड़ रहा है। बाजार समिति के एक मरीज को पिछले दिनों पीएमसीएच में भर्ती करना पड़ा। परिजनों ने बताया कि भर्ती मरीज को तीन-चार दिन से बुखार था। शुरू में उसने पैरासिटामोल खाया। दो दिन बाद उसे पुन: बुखार लग गया। तब उसने एंटीबायोटिक व कुछ दर्द निवारक दवाइयां ले ली। इसके बाद उसकी हालत खराब होने लगी और उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। ऐसे कई केस अलग-अलग अस्पतालों में मिल रहे हैं। 

इस बार जल्दी ठीक हो रहे डेंगू के मरीज 

इस बार डेंगू का प्रकोप बेहद मारक नहीं हो रहा है। पिछले वर्ष के अक्टूबर-नवंबर से तुलना की जाए तो इस बार मरीज भी बेहद कम मिल रहे हैं। सिविल सर्जन कार्यालय के एक वरीय पदाधिकारी के अलावा न्यू गार्डिनर रोड के डॉ. मनोज कु. सिन्हा, आईजीआईएमएस के मेडिसिन विभाग के वरीय चिकित्सक डॉ. अमित कुमार मिश्रा ने बताया कि इस बार डेंगू मरीज का प्लेटलेट्स बहुत ज्यादा नहीं गिर रहा है। उनका प्लेटलेट्स गिर भी जा रहा है तो सामान्य दवाइयों व खान-पान से भी जल्दी रिकवर भी हो जा रहा है। पिछले वर्ष तक एक डेंगू पीड़ित को ठीक होने में आठ से 10 दिन लग जाते थे। इस बार औसत मरीज सात दिनों में ठीक हो जा रहे हैं। हालांकि कुछ मरीजों में कमजोरी ज्यादा दिनों तक भी रह रही है जो एक सामान्य बात है।  

डॉक्टर से सलाह लेकर ही दवा लें

न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल के निदेशक डॉ. मनोज कुमार सिन्हा ने कहा कि अभी डेंगू के साथ कोरोना और सामान्य वायरल बीमारियों से भी लोग ग्रसित हो रहे हैं। ऐसे में कोई भी दवा खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। एक ओर वायरल और कोविड में एंटीबायटिक के साथ कई दवाइयां लोग लेते हैं। वहीं, डेंगू में एंटीबायोटिक और अन्य दवाइयां की मनाही होती है। ऐसे में एक बार जांच कराकर ही दवाइयों का सेवन चिकित्सक की सलाह से ही करना चाहिए।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें