ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहाररोहिणी को हराइए; लालू के मंच पर फिसली राबड़ी के मुंहबोले भाई की जुबान, अब डैमेज कंट्रोल

रोहिणी को हराइए; लालू के मंच पर फिसली राबड़ी के मुंहबोले भाई की जुबान, अब डैमेज कंट्रोल

Bihar Lok Sabha Elections 2024: सुनील कुमार की जुबान ऐसी फिसली कि उन्हें मंच से ऐलान कर दिया कि रोहिणी आचार्य को भारी मतों से हराइए। बोलते समय लालू प्रसाद यादव भी उसी स्टेज पर मौजूद थे।

रोहिणी को हराइए; लालू के मंच पर फिसली राबड़ी के मुंहबोले भाई की जुबान, अब डैमेज कंट्रोल
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,सारणThu, 18 Apr 2024 01:01 PM
ऐप पर पढ़ें

Bihar Lok Sabha Elections 2024: राजनीतिक दल लोकसभा चुनाव 2024 में अपने उम्मीदवारों को जिताने के लिए ताबड़तोड़ चुनावी सभाएं और रैलियां कर रहे हैं। जनसभा के मंचों से नेता बड़े-बड़े दावे और वादे करते हुए दिख रहे हैं। इस बीच नेताओं के जुबान फिसलने की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। पिछले दिनों नीतीश कुमार ने पीएम मोदी की रैली  में 400 पार के नारे को 4 हजार पार में बदल दिया था। ताजा मामला आरजेडी से जुड़ा है। राबड़ी देवी के मुंहबोले भाई सुनील कुमार सिंह की जुबान फिसल गई। उन्होंने खुले मंच से कह दिया कि इस बार रोहिणी आचार्य को भारी मतों से हराइए। यह वाकया तब हुआ जब मंच पर खुद लालू यादव मौजूद थे। हालांकि सुनील कुमार सिंह को जैसे ही अपनी गलती का एहसास हुआ, डैमेज कंट्रोल करते हुए हालात को संभाल लिया।

बुधवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी अपनी बेटी रोहिणी आचार्य के चुनाव क्षेत्र सारण में प्रचार प्रसार के लिए पहुंचे। सिंगापुर में रहने वाली रोहिणी सारण लोकसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं। बेटी की जीत सुनिश्चित करने के लिए लालू यादव ने खुद मोर्चा थाम लिया है। इससे पहले वे किसी प्रत्याशी के प्रचार में नहीं गए। बुधवार को सारण में लालू ने अपने समर्थकों और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस मंच पर आरजेडी के एमएलसी सुनील कुमार सिंह मौजूद थे। जब उनके भाषण की बारी आई तो उनकी जुबान ऐसी फिसली कि वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुनील कुमार सिंह रोहिणी आचार्य के पक्ष में लोगों से वोट देने की अपील कर रहे थे ताकि उन्हें जिताकर दिल्ली भेजा जाए। लेकिन अपने भाषण में वे बोल गए - मैं राजद के नेताओं से इतना ही कहना चाहता हूं कि रोहिणी आचार्य को भारी वोटो से हराइए।  आरजेडी एमएलसी की यह बात सुनकर वहां मौजूद लोग दं रह गए और सन्नाटा पसर गया। लेकिन तुरंत उन्हें अपनी भूल का एहसास हुआ।  डैमेज कंट्रोल करते हुए उन्होंने कहा कि मेरा मतलब था उन्हें जिताइए। अपनी बात पूरी करते हुए सुनील कुमार सिंह ने कहा की रोहिणी आचार्य को इतने वोटो से विजय दिला दीजिए कि उनका नाम इतिहास में दर्ज हो जाए और आने वाला  समय उन्हें याद करे।

रोहिणी आचार्य को राजद ने पहली बार  मैदान में उतारा है। सारण सीट पर वह बीजेपी के दिग्गज राजीव प्रताप रूडी के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं। रोहिणी लगातार अपने क्षेत्र में 2 अप्रैल से ही बनी हुई हैं। बुधवार से लालू प्रसाद यादव भी पत्नी राबड़ी देवी के साथ कैंप कर रहे हैं। रोहिणी पेशे से डॉक्टर हैं और सिंगापुर में रहती हैं। बीमार पिता को अपनी किडनी देकर रोहिणी ने जीवन दान दिया। उसके बाद पार्टी में उनकी अहमियत बहुत बढ़ गई और चुनाव लड़ाने की मांग की जाने लगी।

रोहिणी आचार्य सोशल मीडिया के माध्यम से सिंगापुर में रहते हुए भी बिहार और भारत की पॉलिटिक्स में एक्टिव रहती हैं।  मीसा भारती के बाद लालू यादव की वह दूसरी बेटी हैं जिन्हें राजद ने चुनाव लड़ने का मौका दिया है। उनके नाम की घोषणा के बाद लालू यादव पर परिवारवाद की राजनीति करने को लेकर हमला तेज हो गया है। लालू पीम नरेंद्र मोदी के निशाने पर रहते हैं।