ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहाररेल ट्रैक पर घंटों पड़ी रही युवक की लाश, ऊपर से गुजर गई 4 ट्रेनें, फिर भी नहीं चेता प्रशासन

रेल ट्रैक पर घंटों पड़ी रही युवक की लाश, ऊपर से गुजर गई 4 ट्रेनें, फिर भी नहीं चेता प्रशासन

राजधानी पटना में रेल और पुलिस विभाग की लापरवाही सामने आई है। जहां रेल ट्रैक पर घंटों शव पड़ा रहा। ऊपर से 4 ट्रेनें भी निकल गई। लेकिन इसके बावजूद लाश को पटरियों से हटाया नहीं गया।

रेल ट्रैक पर घंटों पड़ी रही युवक की लाश, ऊपर से गुजर गई 4 ट्रेनें, फिर भी नहीं चेता प्रशासन
Sandeepवरीय संवाददाता,पटनाSat, 25 Nov 2023 07:22 AM
ऐप पर पढ़ें

पटना में रेल विभाग और पुलिस की असंवेदनशीलता सामने आई है। चितकोहरा पुल के समीप फूल विक्रेता मेमू ट्रेन की चपेट में आ गए। इसके बाद उनका शव दो घंटे तक ट्रैक पर पड़ा रहा। शव के ऊपर से चार ट्रेनें गुजर गईं। जिसके बाद रेल पुलिस ने शव को ट्रैक से हटवाया।

मरने वाले की पहचान बेऊर के महावीर कालोनी निवासी सुनील कुमार मालाकार (42) के रूप में हुई है। परिजनों का आरोप है कि घटना के तुरंत बाद इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई थी। बावजूद इसके शव को ट्रैक से हटाने में देरी की गई। शव की बेअदबी से परिजनों में रेल और पुलिस के प्रति गुस्सा है।

सुनील कुमार मालाकार महावीर कालोनी स्थित मंदिर के पास फूल बेचते थे। परिजनों ने बताया कि शुक्रवार को उन्हें राजा बाजार इलाके में एक पार्टी में फूल की सजावट करने के लिए जाना था। दोपहर करीब 12.30 बजे शार्टकट के चक्कर में सुनील चितकोहरा पुल के समीप पैदल ही रेलवे ट्रैक पार करने लगे।

इसी दौरान वे दानापुर की ओर जा रही मेमू ट्रेन की चपेट में आकर दुर्घटना ग्रस्त हो गए। उनके हाथ और पैर में गंभीर चोटें आई थीं। बाद में उनकी मौत हो गई। शव ट्रैक के बीच पड़ा रहा। घटना के बाद स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची डायल 112 की टीम पाया कि मामला रेलवे पुलिस का है। जिसके बाद डायल-112 के कर्मी इसकी जानकारी रेल पुलिस को दे वहां से चले गए।

पड़ोसी सौरभ पंडित ने बताया कि शव को हटाने में कर्मियों ने लेटलतीफी की। घटना के करीब दो घंटे बाद रेलवे कर्मी और रेल पुलिस मौके पर पहुंचे और शव को ट्रैक से हटाया। तब तक शव के ऊपर से चार ट्रेनें गुजर चुकी थी। ट्रेनों के ऊपर से गुजरने से शव कई जगहों से क्षतिग्रस्त हो गई। सुनील के परिवार में पत्नी, दो बेटे और दो बेटियां हैं। वह परिवार में अकेला कमाने वाले थे। वहीं, परिजनों को अब यह चिंता सता रही है कि उनका जीवन यापन कैसे होगा?

पटना जंक्शन जीआरपी थानाध्यक्ष गोपाल मंडल ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही मौके पर रेल पुलिस के जवानों को रवाना कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि शव हटाने का काम रेलवे के सफाई कर्मी करते हैं। सफाई कर्मी के कहीं और चले जाने के कारण शव को हटाने में थोड़ी देरी हुई। उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें