ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारबर्निंग ट्रेन बनने से बची दरभंगा-नई दिल्ली सुपरफास्ट, लोको पायलट की सूझबूझ से टला हादसा

बर्निंग ट्रेन बनने से बची दरभंगा-नई दिल्ली सुपरफास्ट, लोको पायलट की सूझबूझ से टला हादसा

छपरा में दरभंगा-नई दिल्ली क्लोन सुपरफास्ट बर्निंग ट्रेन बनने से बच गई। जब लोको पायलट की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया। आग की लपटों में ट्रेन आती, उससे पहले इमरजेंसी ब्रेक लगाकर आउटर पर रोक दी।

बर्निंग ट्रेन बनने से बची दरभंगा-नई दिल्ली सुपरफास्ट, लोको पायलट की सूझबूझ से टला हादसा
Sandeepसंवाददाता,छपराMon, 06 May 2024 07:17 AM
ऐप पर पढ़ें

पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के छपरा-सीवान रेल खंड पर स्थित चैनवा रेलवे स्टेशन के समीप 02569 अप दरभंगा- नई दिल्ली क्लोन स्पेशल ट्रेन लोको पायलट सूझबूझ से रविवार को द बर्निंग ट्रेन बनने से बच गई। बताया गया है कि रविवार को क्लोन स्पेशल ट्रेन 108 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चैनवा स्टेशन के पास से गुजर रही थी। इस बीच रेलवे विद्युतीकरण के एसएसपी क्षेत्र में लगी आग की तेज लपटें रेलवे ट्रैक की तऱफ पहुंच गई थी।

चलती ट्रेन की तरफ आग की लपटें पहुंचने की स्थिति में बड़े हादसे की आशंका को भांपते हुए लोको पायलट जेके गहलोत व सीनियर एएलपी सुजीत कुमार सिंह ने इमर्जेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को चैनवा स्टेशन के पश्चिमी आउटर सिग्नल पर ही रोक दिया। इमरजेंसी ब्रेक लगा देख ट्रेन में सवार यात्रियों में अफरातफरी का माहौल कायम हो गया। उधर चालक व सीनियर सहायक चालक ने चैनवा स्टेशन मास्टर को आग लगने की सूचना दी। 

मौके पर पहुंच कर रेलवे के ग्रुप डी कर्मियों, स्टेशन मास्टर, रेलकर्मियों, चालक, उप चालक, पीडब्ल्यूआई आदि ने आसपास के ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया। इस बीच फायरब्रिगेड कर्मी भी मौके पर पहुंच गए। स्पेशल ट्रेन के चालक व उप चालक ने बताया कि अगर ट्रेन की इमरजेंसी ब्रेक लगाकर चैनवा में नहीं रोका जाता, तो ट्रेन का पावर इंजन आग की लपटों के बीच से शायद पार कर जाता। आग की लपटें ट्रेन की यात्री बोगियों में पकड़ लेतीं। इससे द बर्निंग ट्रेन बनने से बड़ी दुर्घटना हो सकती थी।