DA Image
4 जून, 2020|3:46|IST

अगली स्टोरी

कोरोना का कहर: लॉक डाउन के मद्देनजर कालेज नहीं आएंगे शिक्षक-कर्मी

file photo

कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से राज्यभर के शहरों में जारी लॉक डाउन के मद्देनजर राज्य के विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों व कर्मियों को राहत मिल गयी है। उन्हें 31 मार्च तक अपने शैक्षिक संस्थानों में आने की जरूरत नहीं है। 

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आर के महाजन ने मंगलवार को सभी कुलपतियों को कहा है कि 31 मार्च तक अपने सभी शिक्षकों व कर्मियों को आप आवश्यकतानुसार उपस्थिति से मुक्त करने संबंधी आदेश निर्गत कर सकते हैं। विशेष परिस्थिति में यह व्यवस्था होनी चाहिए कि इन शिक्षकों व कर्मियों को आपके द्वारा बुलाया जा सके। सभी कर्मियों का सम्पर्क नम्बर आपके पास उपलब्ध रहना चाहिए। 

गौरतलब हो कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए राज्य के सभी उच्च शैक्षिक संस्थान 23 से ही 31 मार्च तक बंद हैं। पर शिक्षकों-कर्मियों को आने का आदेश जारी था। मंगलवार के आदेश के बाद अब उन्हें 31 मार्च तक संस्थान आने की मजबूरी से निजात मिल जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronas havoc Bihars all College teachers will not come in wake of lock down