ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनए साल पर कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, 9 नए मरीज मिलने से हड़कंप, गया में लगातार दूसरे दिन चार संक्रमित

नए साल पर कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, 9 नए मरीज मिलने से हड़कंप, गया में लगातार दूसरे दिन चार संक्रमित

बिहार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। साल के आखिरी दिन राज्य में 9 नए मामले सामने आए है। जिसमें पटना के 5, गया के 3 और दरभंगा का एक मरीज शामिल है। वहीं राज्य में 8 हजार जाचें हुईं।

नए साल पर कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, 9 नए मरीज मिलने से हड़कंप, गया में लगातार दूसरे दिन चार संक्रमित
Sandeepहिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाMon, 01 Jan 2024 05:59 AM
ऐप पर पढ़ें

राज्य में कोरोना के नौ नए मरीज मिले। इनमें पटना के पांच, गया के तीन और दरभंगा का एक मरीज शामिल है। स्वास्थ्य सचिव सह राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने रविवार को बताया कि सर्दी-बुखार का लक्षण आने पर सभी ने कोरोना जांच कराई। जांच के दौरान सभी कोरोना संक्रमित मिले। हालांकि सभी खतरे से बाहर हैं। इस कारण सभी संक्रमित घर पर रहकर ही कोरोना से संबंधित दवाओं का सेवन कर रहे हैं। वहीं राज्य में आठ हजार से अधिक लोगों की कोरोना जांच हुई।

 विभाग ने जिलों को कोरोना जांच की संख्या और बढ़ाने का निर्देश दिया है। जांच में आरटीपीसीआर पर जोर देने को कहा गया है। 25 से कम सीटी वैल्यू होने पर जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जाएगी। पटना, गया और दरभंगा एयरपोर्ट पर रैंडम जांच जारी है। गया में लगातार दूसरे दिन रविवार को चार नए कोरोना संक्रमित मिले। अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आरटीपीसीआर जांच में चारों संक्रमित पाए गए। अब जिले में मरीजों की संख्या सात हो गई। 

जो नए संक्रमित मिले हैं, उनमें तीन गुरारू व एक नई गोदाम के रहने वाले हैं। इनमें एक महिला भी है।  सिविल सर्जन डॉ. रंजन कुमार सिंह ने बताया कि चार संक्रमितों में से एक महिला है। इन सभी मरीजों को सर्दी-खांसी की समस्या थी। सभी का सैंपल जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए पटना भेजा जाएगा ताकि पता चल सके कि कोरोना का कौन सा वेरिएंट है।

राज्य में कोरोना के नौ नए मरीज मिले। इनमें पटना के पांच, गया के तीन और दरभंगा का एक मरीज शामिल है। स्वास्थ्य सचिव सह राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने रविवार को बताया कि सर्दी-बुखार का लक्षण आने पर सभी ने कोरोना जांच कराई। जांच के दौरान सभी कोरोना संक्रमित मिले।सभी खतरे से बाहर हैं। इस कारण सभी संक्रमित घर पर रहकर ही कोरोना से संबंधित दवाओं का सेवन कर रहे हैं। वहीं राज्य में आठ हजार से अधिक लोगों की कोरोना जांच हुई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें