Monday, January 17, 2022
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारकिसान कानून के खिलाफ कांग्रेसियों ने दिया धरना, कहा- सरकार को किसानों के हित की चिंता नहीं

किसान कानून के खिलाफ कांग्रेसियों ने दिया धरना, कहा- सरकार को किसानों के हित की चिंता नहीं

पटना, हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Mon, 28 Sep 2020 07:04 PM
किसान कानून के खिलाफ कांग्रेसियों ने दिया धरना, कहा- सरकार को किसानों के हित की चिंता नहीं

केंद्र सरकार के कानूनों को किसान विरोधी बताते हुए कांग्रेस ने इसे अविलम्ब वापस लेने की मांग की है। मांग के समर्थन में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा के नेतृत्व में पार्टीजनों ने सोमवार को सदाकत आश्रम में धरना दिया। 

धरना पर बैठे नेताओं को संबोधित करते हुए डा. झा ने कहा कि केंद्र सरकार नए कानून के माध्यम से खेत और खलिहानों को पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रखने की साजिश रच रही है। उसे किसानों के हित की कोई चिंता नहीं है। कांग्रेस का यह आंदोलन किसानों के हित में है। कांग्रेस ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो आजादी के बाद से आज तक किसानों के हित में काम करती रही है। बाद में पार्टी नेताओं ने कानून को वापस लेने के लिए राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन राज्यपाल को दिया। 

मदन मोहन झा ने आरोप लगाया कि सदन में बिना बहस के नियम के खिलाफ इसे पारित कराया गया। इससे केन्द्र सरकार की मंशा साफ हो जा रही है। सरकार को तीनों काले कानूनों को अविलम्ब वापस लेना चाहिए। पत्रकारों से बात में उन्होंने हवाई अड्डे पर कांग्र्रेस नेता के स्वागत में गये कार्यकर्ताओं पर केस करने का भी विरोध किया। साथ ही कहा कि इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को हस्तक्षेप करना चाहिए। 

ज्ञापन में पार्टी ने कहा है कि देश में 62 करोड़ किसान और खेत मजदूर इस कानून का विरोध कर रहे हैं। 250 से अधिक किसान संगठन धरना और भूख हड़ताल पर हैं। लेकिन सरकार को इससे कोई मतलब नहीं है। संसद के भीतर किसानों के समर्थकों की आवाज दबाई जा रही है और सड़क पर किसान पीटे जा रहे हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें