ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनवाबों का शहर देखें कांग्रेसी विधायक, उनका वोट नहीं चाहिए; हमारे पास 128 MLA, बोले सम्राट चौधरी

नवाबों का शहर देखें कांग्रेसी विधायक, उनका वोट नहीं चाहिए; हमारे पास 128 MLA, बोले सम्राट चौधरी

नीतीश सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस के सभी विधायकों को हैदराबाद शिफ्ट करने पर सम्राट चौधरी ने हमला बोला है। और कहा कि वैसे भी हमें कांग्रेस के वोट की जरूरत नहीं है। अच्छा है वो हैदराबाद घूमें

नवाबों का शहर देखें कांग्रेसी विधायक, उनका वोट नहीं चाहिए; हमारे पास 128 MLA, बोले सम्राट चौधरी
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाMon, 05 Feb 2024 11:05 AM
ऐप पर पढ़ें

नीतीश सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले पार्टी में टूट की आशंका के बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों को दिल्ली से हैदराबाद शिफ्ट कर दिया है। और अब 12 फरवरी को ही सीधे सभी विधायक बिहार पहुंचेंगे। जिसे पर बिहार की एनडीए सरकार के डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने तंज कसते हुए हमला बोला है। सम्राट ने कहा कि अच्छी बात है, दिल्ली आए थे उन्हें हैदराबाद ले जाया गया है। नवाबों का शहर घूमेंगे और देखेंगे। वैसे भी हमें कांग्रेस के वोट की जरूरत नहीं है।

सम्राट चौधरी ने कहा कि हमें कांग्रेस और राजद के समर्थन की जरूरत नहीं है। हमें जनता का समर्थन चाहिए। जनता के समर्थन से ही एनडीए की सरकार 2020 में बन गई थी। वो तो बीच में चोरी करने के लिए कुछ लोग आए थे। लेकिन अब सबका इलाज होगा। 
 

आपको बता दें पार्टी विधायकों के पाला बदलने की आशंका के मद्देनजर कांग्रेस ने एहतियातन बिहार के अपने विधायकों को हैदराबाद भेज दिया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ हुई बैठक के बाद पार्टी के विधायकों को दिल्ली से ही रविवार को हैदराबाद भेज दिया गया। सभी विधायक विश्वासमत के दिन यानी 12 फरवरी को ही अब बिहार लौटेंगे। दरअसल, बिहार में सियासी समीकरण बदलने के बाद कांग्रेस विधायकों के एक धड़े का पार्टी से अलग होने की चर्चा जोरों पर है। राजनीतिक हलकों में चल रही इस अटकलबाजी के बीच अब कांग्रेस विधायकों को अचानक से दिल्ली से हैदराबाद शिफ्ट कर दिया गया।

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के 19 में से 16 विधायकों को हैदराबाद शिफ्ट किया गया है। बाकी बचे तीन विधायक एक-दो दिनों में हैदराबाद जाएंगे। विधायकों को हैदराबाद भेजने का निर्णय एक दिन पहले ही दिल्ली बैठक में लिया गया। बीते 28 जनवरी को नीतीश कुमार के महागठबंधन से अलग होकर एनडीए संग मिलकर सरकार बनाने के बाद से ही कांग्रेस में टूट की चर्चा है। हालांकि 28 जनवरी को पूर्णिया में हुई बैठक में कांग्रेस के सभी विधायक जुटे थे। सभी 19 विधायकों ने पार्टी के साथ एकजुटता दिखाने वाली तस्वीर भी पोस्ट की थी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें