Congress is softening towards terrorists and separatists Sushil Modi - आतंकियों व अलगाववादियों के प्रति नरमी बरतती रही है कांग्रेस : सुशील मोदी DA Image
8 दिसंबर, 2019|12:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकियों व अलगाववादियों के प्रति नरमी बरतती रही है कांग्रेस : सुशील मोदी

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वोट बैंक की राजनीति के कारण कांग्रेस हमेशा से आतंकियों, अलगाववादियों व उग्रवादियों के प्रति नरमी बरतती रही है। इसीलिए अफजल गुरु की फांसी का विरोध, टाडा, पोटा जैसे आतंकरोधी कानूनों को समाप्त करने वाली कांग्रेस को आतंकवादियों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की सबूत चाहिए। 

शुक्रवार को जारी बयान में उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी के कार्यकाल में पंजाब के खालिस्तानी आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बने टाडा कानून को बाद में मुस्लिम विरोधी बता कर कांग्रेस की नरसिंह राव की सरकार ने वापस ले लिया था। कांग्रेस के विरोध के कारण ही लोकसभा से जब अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ‘पोटा’ कानून को पारित नहीं करा पाई तो संयुक्त अधिवेषण बुला कर पास किया जिसे सत्ता में आने के बाद कांग्रेस ने समाप्त कर दिया। 

वहीं 1993 के सीरियल बम बलास्ट और 26/11 के मुम्बई आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ सीधी कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटाने वाली कांग्रेस को संसद पर आतंकी हमले के साजिशकर्ता अफजल गुरु को सुप्रीम कोर्ट से फांसी की सजा मिलने के बाद कानूनी लड़ाई लड़ने तक में संकोच नहीं हुआ। बटाला हाउस एनकाउंटर पर सोनिया गांधी के घड़ियाली आंसू बहाने वाली कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का जेएनयू में जाकर ‘देश के टुकड़े-टुकड़े करने’ का नारा लगाने वाले देशद्रोहियों तथा प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश रच रहे ‘शहरी माओवादियों’ के पक्ष में खड़ा होना भी शर्मनाक रहा। 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि तुष्टिकरण की नीति के कारण  कांग्रेस के लिए आतंकवाद और मुस्लिम विरोधी कानून में कभी अंतर नहीं रहा। इसीलिए पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सरकार को कोसने वाली कांग्रेस ‘एयर स्ट्राइक’ की सबूत मांगने में जुट गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress is softening towards terrorists and separatists Sushil Modi