DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंथन: महागठबंधन की पहली ही समीक्षा बैठक से गायब रही कांग्रेस

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद हुई महागठबंधन की पहली बैठक से कांग्रेस नदारद रहा। पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर हार के कारणों को लेकर हुई समीक्षा बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की कौन कहे, कोई प्रतिनिधि तक भी नहीं आए। हालांकि कांग्रेस की इस गैर-मौजूदगी के बावजूद नेता विरोधी दल तेजस्वी यादव ने कहा कि उनकी बात कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं से हो रही है। महागठबंधन मजबूत है और उसमें कांग्रेस है। इस मसले पर कांग्रेस की प्रदेश इकाई भी बचाव करते नजर आया। 

समीक्षा बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में तेजस्वी ने कहा कि हमारी बात राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, अहमद पटेल से हो रही है। आज-कल में दिल्ली में चुनाव परिणाम की समीक्षा को लेकर यूपीए की बैठक होनी है। उसमें मैं भी शिरकत करूंगा। महागठबंधन से कांग्रेस के अलग होने के सवाल को तेजस्वी ने खारिज कर दिया।  

वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि 29 व 30 मई को पटना से बाहर का दौरा तय था, इसलिए बैठक में नहीं आ सका। नेता विरोधी दल तेजस्वी यादव को इसकी जानकारी दे दी थी। महागठबंधन की एकजुटता के सवाल पर श्री झा ने भी हामी भरी और कहा कि महागठबंधन पूरी तरह एकजुट है। 

हार से हम हौसला नहीं हारे, महागठबंधन एकजुट : तेजस्वी 
पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास दस सर्कुलर रोड में हुई समीक्षा बैठक में कांग्रेस को छोड़ महागठबंधन के अन्य घटक दलों में रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा, हम महासचिव संतोष मांझी, वीआईपी प्रमुख  मुकेश सहनी, पूर्व सांसद शरद यादव सहित अन्य नेता जरूर शामिल हुए। नेताओं ने एकसुर में महागठबंधन को मजबूत बताया। पत्रकारों से बातचीत में तेजस्वी ने माना कि लोस चुनाव में इस तरह के परिणाम की उम्मीद नहीं थी, लेकिन इससे हम निराश नहीं है। हम लोग मजबूत हैं। हम इस हार से हौसला नहीं हारे हैं। बिहार की जनता ने हम लोगों को नकारा नहीं है। हम लोगों ने अपना मनोबल नहीं खोया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress disappearance from first Grand alliance review meeting in Patna