ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारछपरा को पूर्वांचल एक्सप्रेस से जोड़ने का रास्ता साफ, बिहार के इन जिलों से गोरखपुर आना-जाना होगा आसान

छपरा को पूर्वांचल एक्सप्रेस से जोड़ने का रास्ता साफ, बिहार के इन जिलों से गोरखपुर आना-जाना होगा आसान

गोरखपुर से बलिया तक बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस से छपरा को जोड़ने के लिए 117 किमी चार लेन सड़क का निर्माण होगा। हाजीपुर का छपरा से पहले ही चार लेन से जुड़ाव है। पटना का हाजीपुर से संपर्कता हासिल है।

छपरा को पूर्वांचल एक्सप्रेस से जोड़ने का रास्ता साफ, बिहार के इन जिलों से गोरखपुर आना-जाना होगा आसान
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाFri, 05 Aug 2022 10:02 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

छपरा (सारण) को पूर्वांचल एक्सप्रेस से जोड़ने का रास्ता साफ हो गया है। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राजमार्ग मंत्रालय ने बलिया-छपरा सड़क का टेंडर जारी कर दिया है। लगभग तीन हजार करोड़ की इस परियोजना को दो साल में पूरा कर लिया जाएगा। गोरखपुर से बलिया तक बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस से छपरा को जोड़ने के लिए 117 किमी चार लेन सड़क का निर्माण होगा। वहीं हाजीपुर का छपरा से पहले ही चार लेन से जुड़ाव है। पटना का हाजीपुर से सुगम संपर्कता हासिल है। ऐसे में छपरा के पूर्वांचल एक्सप्रेस के जुड़ने से न केवल सारण, बल्कि पटना, वैशाली सहित अन्य जिले के लोगों का गोरखपुर तक आना-जाना आसान होगा।

अधिकारियों के अनुसार पूर्वांचल एक्सप्रेस को बलिया से छपरा को जोड़ने के लिए जमीन अधिग्रहण का काम पहले से ही चल रहा था। तय मानक के अनुसार जमीन अधिग्रहण होने के बाद ही टेंडर जारी किया गया है। आगामी दो तीन माह में इसकी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। नियमानुसार चयनित एजेंसी को इस सड़क के निर्माण का जिम्मा दिया जाएगा। 

वहीं, दूसरी ओर बक्सर छोर में पूर्वांचल एक्सप्रेस को जोड़ने के लिए मंत्रालय ने संशोधन किया है। राज्य सरकार ने बक्सर से हैदरिया तक 19 किमी चार लेन सड़क बनाने की मांग की थी। मंत्रालय ने इसमें संशोधन करते हुए करीमुद्दीनपुर से भरौली के बीच 17 किमी में स्पर बनाने का निर्णय लिया है। हैदरिया से भरौली 10 किमी पहले ही पूर्वांचल एक्सप्रेस से जुड़ेगा। ऐसे में पूर्वांचल एक्सप्रेस अब पटना-बक्सर सड़क से 10 किलोमीटर पहले ही जुड़ जाएगा। इस तरह अगर किसी को पटना से दिल्ली जाना होगा तो उन्हें अब 10 किमी कम दूरी तय करनी होगी। 

केंद्र सरकार के प्रति हम आभारी हैं। दोनों सड़क परियोजनाओं के बनने से बिहारवासियों को लाभ होगा। लोग गंतव्य स्थलों तक कम समय में सफर कर सकेंगे। 
- नितिन नवीन, मंत्री, पथ निर्माण विभाग। 

epaper