ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारचिराग पासवान का चैलेंज: हिम्मत है तो बैन करके दिखाइए रामचरितमानस, नीतीश से सीख रहे शिक्षा मंत्री बंटवारे की राजनीति

चिराग पासवान का चैलेंज: हिम्मत है तो बैन करके दिखाइए रामचरितमानस, नीतीश से सीख रहे शिक्षा मंत्री बंटवारे की राजनीति

बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के रामचरितमानस पर दिए विवादित बयान पर चिराग पासवान ने कहा कि अगर नीतीश सरकार में हिम्मत है तो रामचरितमानस को बैन करके दिखाएं, अगर ये नफरत फैलाने वाला ग्रंथ है।

चिराग पासवान का चैलेंज: हिम्मत है तो बैन करके दिखाइए रामचरितमानस, नीतीश से सीख रहे शिक्षा मंत्री बंटवारे की राजनीति
Sandeepहिन्दुस्तान,पटनाSun, 15 Jan 2023 11:57 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान ने नीतीश सरकार को बड़ा चैलेंज दिया है। शिक्षा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर के विवादित बयान पर कहा कि अगर नीतीश सरकार में हिम्मत है तो रामचरितमानस को बैन करके दिखाएं, उनका अगर ये ग्रंथ नफरत फैलाने वाला लगता है। बिहार में तो उनकी सरकार है। साथ ही सीएम नीतीश कुमार पर भी उन्होने हमला बोला।

बंटबारे की राजनीति करते हैं नीतीश
चिराग पासवान ने कहा कि हम ऐसे प्रदेश में हैं, जहां के मुख्यमंत्री ने बंटवारे की राजनीति करके ही अपनी राजनीति चमकाई है। महिला-पुरुष में बंटवारे की बात हो या दलित-महादलित में बंटवारे की बात हो,पिछड़ा-अति पिछड़ा की बात हो, मुख्यमंत्री बंटवारे की राजनीति कर सत्ता पर काबिज हैं। इस तरीके के भड़काऊ बयान ही मुख्यमंत्री देते हैं और उनकी सरकार के मंत्री देते हैं। शिक्षा मंत्री ने भी उन्ही से सीख ली है। चिराग सीएम नीतीश कुमार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि, सीएम के मंत्री रामचरित मानस पर विवादास्पद बयान देते हैं और उनपर कोई कार्रवाई भी नहीं होती, जबकि सीएम को ऐसे मंत्रियों को तुरंत बर्खास्त कर देना चाहिए।

सुरक्षा बढ़ाने पर केंद्र का शुक्रिया 
चिराग पासवान ने केंद्र सरकार का सुरक्षा बढ़ाने के लिए शुक्रिया अदा किया। आपको बता दें केंद्रीय खुफिया विभाग की रिपोर्ट के बाद चिराग पासवान की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है। जानकारी के अनुसार, जेड श्रेणी के सिक्योरिटी सिस्टम के तहत 33 जवान उनकी सुरक्षा में रहेंगे। बताया जा रहा है कि ये सुरक्षा चिराग पासवान को बिहार में दी जाएगी। इंटेलिजेंस ब्यूरो यानी IB की थ्रेट परसेप्शन रिपोर्ट के आधार पर पासवान को ये सुरक्षा प्रदान की गई है। इस रिपोर्ट के सामने आने बाद लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के पासवान गुट के नेताओं ने चिराग पासवान की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की थी, इसमें चिराग को बिहार में जान का खतरा बताया गया था।