Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारबिहार की जनता नीतीश कुमार से परेशान, चिराग ने सीएम पर साधा निशाना, किया दावा- उपचुनाव में तीसरे नंबर पर आएगी जेडीयू

बिहार की जनता नीतीश कुमार से परेशान, चिराग ने सीएम पर साधा निशाना, किया दावा- उपचुनाव में तीसरे नंबर पर आएगी जेडीयू

नई दिल्ली । विशेष संवाददाताMalay Ojha
Sat, 09 Oct 2021 06:44 PM
बिहार की जनता नीतीश कुमार से परेशान, चिराग ने सीएम पर साधा निशाना, किया दावा- उपचुनाव में तीसरे नंबर पर आएगी जेडीयू

इस खबर को सुनें

लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। बिहार उपचुनाव में दोनों सीट पर अपनी पार्टी के उम्मीदवारों का ऐलान करते हुए उन्होंने दावा किया कि जेडीयू तीसरे नंबर पर आएगी। क्योंकि बिहार की जनता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से परेशान है। इसके साथ उन्होंने अपने चाचा व केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस की नीयत पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि वह अभी बहुत सी बातों पर चुप हैं।

लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) को चुनाव आयोग की इजाजत मिलने के बाद पहली बार मीडिया से बात करते हुए चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और अपने चाचा पशुपति कुमार पारस पर निशाना साधने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव के वक्त उनके पिता रामविलास पासवान बीमार थे और वह मुश्किल से 10-15 दिन ही प्रचार कर पाए थे। इसके बावजूद पार्टी को छह फीसदी वोट मिले थे। जबकि आज 15 फीसदी वोट वाले मुख्यमंत्री बने हुए हैं।

चिराग इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने यह भविष्यवाणी भी कर दी कि बिहार में जल्द मध्यावधि चुनाव होंगे। इसका कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि एनडीए गठबंधन में होने के बावजूद नीतीश कुमार केंद्र सरकार के हर फैसले का विरोध कर रहे है। ऐसे में गठबंधन का जल्द टूटना तय है। यह सवाल किए जाने पर कि वह किसी पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे। उन्होंने कहा कि इसका फैसला चुनाव से पहले किया जाएगा। इन दोनों सीट पर उपचुनाव में पार्टी अकेले अपनी किस्मत आजमा रही है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि पर पटना में होने वाले कार्यक्रम में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि चाचा पशुपति कुमार पारस ने किसी सहयोगी के जरिए निमंत्रण भेजा है। चाचा पर निशाना साधते हुए कहा कि यह विचारधारा की लड़ाई नहीं है, चाचा व्यक्तिगत स्वार्थ की लड़ाई लड़ रहे हैं। परिवार के संस्कारों की वजह से वह कई मुद्दों पर अभी चुप्पी साधे हुए है, पर देश और बिहार की जनता उनकी संपत्ति थी और वह उसके उत्तराधिकारी है।

epaper

संबंधित खबरें