ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारपटना IGIMS में फिर बवाल, इमरजेंसी में चाकूबाजी से हड़कंप, 2 लोग हुए घायल

पटना IGIMS में फिर बवाल, इमरजेंसी में चाकूबाजी से हड़कंप, 2 लोग हुए घायल

पटना के IGIMS अस्पताल में बीते 3 दिनों में दूसरी बार बवाल की घटना सामने आई है। बुधवार को इमरजेंसी में चाकूबाजी की घटना से हड़कंप मच गया। जिसमें दो लोग घायल हो गए हैं।

पटना IGIMS में फिर बवाल, इमरजेंसी में चाकूबाजी से हड़कंप, 2 लोग हुए घायल
Sandeep,पटनाThu, 29 Feb 2024 05:46 AM
ऐप पर पढ़ें

आईजीआईएमएस के इमरजेंसी में बुधवार की शाम छह बजे जमकर चाकूबाजी हुई जिसमें दो लोग घायल हो गए। इस दौरान एक सुरक्षाकर्मी को भी हल्की चोट आई है। घायल प्रमोद कुमार को इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों के अनुसार चाकू उसके बांह के पास लगी है। वह खतरे से बाहर है। चाकू से हमला करने वाले प्रदीप कुमार को सुरक्षाकर्मियों और मरीजों के परिजनों ने पकड़ लिया। उसे पीट-पीटकर अधमरा कर दिया गया। इधर, घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपित को गिरफ़्तार कर लिया।

अस्पताल से मिली जानकारी के मुताबिक घटना में घायल और हमलावर दोनों एंबुलेंस दलाल हैं। छपरा के एक कैंसर पीड़ित के शव को पहुंचाने को लेकर हुआ विवाद चाकूबाजी तक पहुंच गया। घायल प्रमोद कुमार ने बताया कि छपरा के एक मरीज की मौत कैंसर से हो गई थी। उसने अपने एंबुलेंस से उसके शव को छपरा भिजवा दिया। उस समय हमला करनेवाले प्रदीप से उसकी हल्की बहस हुई। थोड़ी देर बाद वह हाथ में चाकू लेकर आया और अचानक हमला कर दिया। इमरजेंसी की ओर भागा तो पीछे से हमलावार भी वहां घुस गया। जबतक सुरक्षाकर्मी कुछ समझ पाते वह दो लोगों को चाकू से घायल कर चुका था। 

उसके बाद एक व्यक्ति को दौड़ाते हुए वह बाहर की ओर आया। वहां हाथ में चाकू लहराते वह चिल्लाने लगा। वह सबको जान से मारने की धमकी दे रहा था। वहां से एक व्यक्ति को देखकर वह दोबारा इमरजेंसी में चाकू लेकर पहुंच गया। सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोकने की कोशिश की तो उनपर भी हमला कर दिया। इस बीच उसके चाकू का हैंडिल टूट गया और बड़ी घटना होने से बच गई। हमलावर को इमरजेंसी में ही सुरक्षाकर्मियों और मरीजों के परिजनों ने पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। थोड़ी देर बाद पहुंची शास्त्रत्त्ीनगर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

मरीजों और परिजनों में भगदड़ शाम को चाकू लेकर दौड़ते युवक को देखकर इमरजेंसी के बाहर शेड में इंतजार कर रहे मरीज के परिजनों में भी भगदड़ मच गई। महिलाएं जैसे-तैसे शेड से बाहर की ओर दौड़ने लगी। इमरजेंसी के बाहर के इलाके में लगभग आधे घंटे तक अफरा-तफरी का माहौल रहा।

आईजीआईएमएस के अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल ने बताया कि घटना इमरजेंसी के भीतर नहीं हुई है। इमरजेंसी के बाहर के दो लोग आपस में दंत रोग विभाग के बाहर सड़क पर भिड़ गए थे। इस दौरान उसमें से एक को चोट लगी है। घायल प्रमोद कुमार को इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है। पिछले तीन दिनों में मारपीट की यह दूसरी घटना आईजीआईएमएस में हुई है। सोमवार को डॉक्टरों व मरीज के परिजनों के बीच मारपीट हुई थी। इस दौरान एक शख्स ने पिस्टल लहरा दिया था। चाकू के हमले में घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

आईजीआईएमस परिसर में जमे एंबुलेंस और दवा दलाल वहां इलाज कराने के लिए आनेवाले मरीजों के लिए भी खतरा बन गए हैं। आईजीआईएमएस के पास 10 से 12 एंबुलेंस मौजूद है। बड़ी संख्या में 108 एंबुलेंस भी पटना में चलती है। लेकिन मरीजों को इनकी सेवा आसानी से नहीं मिल पाती है। एंबुलेंस दलालों के कारण बाहर का एंबुलेंस अंदर प्रवेश नहीं कर पाता है। एंबुलेंस और दवा दलालों की मरीजों पर कब्जे को लेकर कई बार पूर्व में भी भिड़ंत हो चुकी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें