DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरों के चौक-चौराहों व हाजतों में लगेंगे सीसीटीवी : CM नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में कानून का राज स्थापित करना हमारी पहली प्राथमिकता है। क्राइम, करप्शन और कॉम्युनलिज्म से किसी प्रकार का हम समझौता नहीं करेंगे। लोगों की सुरक्षा को लेकर सभी जिलों में सेफ सिटी सर्विलांस योजना के तहत शहरों के चौक-चौराहों और प्रमुख स्थानों पर तथा पुलिस द्वारा मानवाधिकार हनन की घटना को रोकने के लिए थानों में सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। 

मुख्यमंत्री ने यह घोषणा गुरुवार को विधानसभा में की। उन्होंने कहा कि पहले की तुलना में बिहार में अपराध काफी घटे हैं। पर, पिछले साल की अपेक्षा इस साल पहले पांच महीनों में हत्या, लूट और चोरी की घटनाओं में मामूली वृद्धि हुई है। इसके कारणों की तलाश भी कर ली गई है। अपराध पर अंकुश के लिए व्यापक कदम उठाए गये हैं। 

पांच तरह की गड़बड़ियां चिह्नित की गई हैं
गृह विभाग के वार्षिक बजट पर हुए वाद-विवाद के बाद मुख्यमंत्री विधानसभा में अपनी बात रख रहे थे। उन्होंने कहा कि कानून का राज कायम करने में जो भी पुलिस अफसर गड़बड़ी करेंगे तो उन्हें हम छोड़ेंगे नहीं। पांच तरह की गड़बड़ियां चिह्नित की गई हैं। इनमें लिप्त पुलिस अफसरों को थानाध्यक्ष नहीं बनाया जाएगा। जिस अफसर पर तीन बार विभागीय कार्रवाई शुरू हुई हो, विभागीय कार्रवाई हुई हो, कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए गए हों, जांच के दौरान उनके खिलाफ साक्ष्य मिले हों अथवा शराब मामले में उनकी मिलीभगत हो, उन्हें थानाध्यक्ष नहीं बनाया जाएगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर थाने में अनुसंधान और विधि व्यवस्था की अलग-अलग टीम 15 अगस्त तक हर हाल में काम करने लगेगी। पुलिस को हर तरह की सुविधाएं सरकार दे रही हैं। पुराने राइफल की जगह एके-47 सहित अन्य हथियार दिये जा रहे हैं। ऐसे में उनकी जिम्मेदारी बनती है कि वे जनता की सुरक्षा हर हाल में सुनिश्चित करें। बड़ी संख्या में पुलिस की नियुक्ति भी की जा रही है। मुख्यमंत्री ने 70 मिनट के अपने उत्तर में अपराध रोकने के लिए उठाए जा रहे कई कदमों की जानकारी दी। हालांकि अंतिम समय में विपक्ष उनके भाषण के दौरान ही वाक आउट कर गया। 

राज्य में अब नहीं होंगे पुलिस जोन 
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में अब पुलिस जोन नहीं होंगे। सिर्फ रेंज होंगे। एसपी और पुलिस मुख्यालय के बीच सिर्फ एक पदाधिकारी होंगे, जो रेंज में तैनात होंगे। राज्य में 12 रेंज होंगे। पांच रेंज में आईजी और सात में डीआईजी बैठेंगे। पटना, मुजफ्फरपुर, गया, भागलपुर और पूर्णिया में आईजी बैठेंगे। बेतिया, बेगूसराय, सारण, सहरसा, मुंगेर, शाहाबाद और दरभंगा में डीआईजी होंगे। 

गश्ती की निगरानी एसपी करेंगे
मुख्यमंत्री ने कहा पुलिस को निर्देश दिया गया है कि जीपीएस लगे वाहनों से गश्ती नियमित रूप से हो। वाहन में जीपीएस लगे रहेंगे, तो पूरी जानकारी मिलेगी कब-कब कहां पर गश्ती हुई। उन्होंने कहा कि एसपी और डीएसपी खुद गश्ती की निगरानी करेंगे।  

यह भी बोले सीएम   
सभी थानों में न्यूनतम दो वाहन होंगे
थानों में आगंतुकों के लिए कक्ष होंगे
छह माह में तैयार हो जाएंगे सभी कक्ष 
सभी जिलों में साइबर क्राइम यूनिट होगी 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CCTVs in all Chowk and squares in Bihar CM Nitish