ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहाररेलवे स्टेशन पर व्यवसायी को गोलियों से भूना, हत्या से मचा हड़कंप, हथियार लहराते हुए भागे बदमाश

रेलवे स्टेशन पर व्यवसायी को गोलियों से भूना, हत्या से मचा हड़कंप, हथियार लहराते हुए भागे बदमाश

फतुहा रेलवे स्टेशन पर दूध विक्रेता को बदमाशों ने गोलियों से भून दिया। हमलावरों ने उसे 4 गोलियां मारी। जिससे मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक रंजिशन हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है।

रेलवे स्टेशन पर व्यवसायी को गोलियों से भूना, हत्या से मचा हड़कंप, हथियार लहराते हुए भागे बदमाश
Sandeepहिन्दुस्तान टीम,पटनाMon, 04 Dec 2023 06:15 AM
ऐप पर पढ़ें

पटना में फतुहा रेलवे स्टेशन के पास रविवार की सुबह अपराधियों ने दूध विक्रेता को गोलियों से भून डाला। हथियारबंद अपराधियों ने युवक के सिर व सीने में चार गोलियां मारीं। एक गोली युवक के मोबाइल में फंस गई। गोली लगने से उनकी मौके पर मौत हो गई। मृतक की पहचान सालिमपुर थाना क्षेत्र के मंझौली गांव निवासी फगू यादव (35) के रूप में हुई है। उधर वारदात के बाद अपराधी हथियार लहराते हुए फरार हो गए।

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम करा मामले की छानबीन शुरू कर दी है। कारोबारी की हत्या क्योंकि की गई फिलहाल इसका कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस का मानना है कि आपसी रंजिश अथवा कारोबार की प्रतिद्वंद्विता मे युवक की हत्या की गई। जबकि परिजनों ने हत्या में गांव के ही कुछ लोगों को शक जाहिर की है।

फगू यादव दूध का व्यवसाय करते थे। वह प्रतिदिन गांव से दूध लेकर ट्रेन से फतुहा आते थे। रविवार की सुबह वह अप राजगीर-दानापुर पैसेंजर से फतुहा रेलवे स्टेशन पर उतरे थे। वह ट्रेन से उतर प्लेटफॉर्म संख्या तीन के विपरीत दिशा में जा रहे थे। तभी घात लगाए तीन-चार बदमाश नजदीक आए और उनपर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

अपराधियों ने नजदीक से गोलियां मारी। लिहाजा फगू को बचने का कोई मौका तक नहीं मिला। बाद में सभी अपराधी हथियार लहराते हुए दो बाइक से फरार हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि छह बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। घटना के वक्त दो अपराधी बाइक के पास खड़े थे। उधर घटना की सूचना मिलते ही फतुहा डीएसपी सियाराम यादव सहित आरपीएफ और जीआरपी के जवान मौके पर पहुंचे और छानबीन में जुट गए थे। युवक के पास से मिले कागजात से उनकी पहचान की गई।

बाद में रेल एसपी अमृतेंदु शेखर ठाकुर और रेल डीएसपी परिमल कुमार पांडेय भी वहां पहुंचे और अधिकारियों से मामले का जानकारी ली। वहीं, घटना के बारे में युवक के परिजनों को जानकारी दी गई। फगू की हत्या की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया है। चचेरे भाई शैलेश कुमार ने बताया कि फगू परिवार में अकेला कमाने वाले थे। उनके पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। वर्तमान में उनकी पत्नी सुलेखा देवी के अलावा छोटे-छोटे तीन बच्चियां और दो बच्चे हैं। 

उन्होंने बताया कि गांव के ही कुछ लोगों से फगू का विवाद चल रहा था। उन्होंने जान से मारने की धमकी भी दी थी। रेल थानाध्यक्ष भरत उरांव ने बताया कि फगू के परिजनों की ओर से भी फिलहाल कोई आवेदन नहीं मिला है। बावजूद इसके पुलिस अपराधियों की पहचान करने में जुटी है। आरोपितों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें