ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारबिहार से दिल्ली, हरियाणा, पंजाब तक चलेंगी बसें; पीपीपी मॉडल ला रही नीतीश सरकार

बिहार से दिल्ली, हरियाणा, पंजाब तक चलेंगी बसें; पीपीपी मॉडल ला रही नीतीश सरकार

बिहार से दूसरे राज्यों के लिए भी निजी बसें चल रही हैं, लेकिन उनकी हालत बदतर है। सरकार उनकी मॉनिटरिंग नहीं कर पाती है, ऐसे में परिवहन विभाग ने पीपीपी मोड पर बसें चलाने का फैसला लिया है।

बिहार से दिल्ली, हरियाणा, पंजाब तक चलेंगी बसें; पीपीपी मॉडल ला रही नीतीश सरकार
bihar bus bsrtc
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाFri, 21 Jun 2024 11:03 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार से दिल्ली, झारखंड, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा के प्रमुख शहरों के लिए बसें चलेंगी। परिवहन विभाग इसकी तैयारी में हैं। नीतीश सरकार ने इन राज्यों के लिए फिलहाल पीपीपी मॉडल (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) से बसों का परिचालन करने का निर्णय लिया गया है। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम इसके लिए सक्षम एजेंसी एवं लोगों से बसों के परिचालन का प्रस्ताव मांगेगा।

कई राज्यों के लिए बिहार से निजी बसें चलती हैं। इनमें से बड़ी संख्या में परिचालन अनधिकृत रूप से भी किया जाता है। वर्तमान में बिहार से यूपी, झारखंड एवं अन्य राज्यों के लिए बसों का परिचालन होता है। फिलहाल दिल्ली के लिए बसें नहीं चल रही हैं। विभाग ने दिल्ली के लिए बस परिचालन शुरू करने के लिए विभाग की ओर से प्रस्ताव तैयार किया है। 

बिहार से इन राज्यों में नियमित रूप से लोगों का आना-जाना होता है। लिहाजा निजी बसों का परिचालन होता है। लेकिन, न तो इनकी निगरानी हो पाती है न बसों की स्थिति पर नजर रखी जाती है। कई बसों की स्थिति बदतर है और वे परिचालन के लायक भी नहीं हैं। ऐसे बसों पर सख्ती की जाएगी। 

वहीं, पीपीपी मोड में चलने वाली बसों पर सीधे राज्य सरकार की निगरानी रहेगी। भाड़ा सहित ठहराव के लिए विभाग अनुमति देगा और उस बस का पूरा रूट चार्ट विभाग के पास रहेगा, ताकि दूसरे राज्यों तक चलने वाली बसों की पूरी जानकारी विभाग के पास रहे।

दूसरे राज्यों में काम कर रहे बिहारियों को होगी सुविधा
बिहार से बड़ी संख्या में लोग दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में काम करते हैं। त्योहार और अन्य मौकों पर घर आने और वापस काम पर जाने के लिए उन्हें बहुत जद्दोजहद करनी पड़ती है। इन दिनों में नियमित ट्रेनें फुल होती हैं और स्पेशल ट्रेनों में भी सीट नहीं मिल पाती है।

निजी बस संचालक भी कुछ जगहों से बिहार के विभिन्न शहरों के लिए बसों का संचालन करते हैं, लेकिन वे मनमाना भाड़ा वसूल करते हैं। इससे यात्रियों को असुविधा होती है। बिहार सरकार द्वारा पीपीपी मोड पर बसें चलाने से दूसरे राज्यों में काम करने वाले लोगों को सुविधा होगी।