ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारदरभंगा में कचरे में मिला अधजला नवजात, लहेरियासराय के नर्सिंग होम में अवैध गर्भपात के धंधे का आरोप

दरभंगा में कचरे में मिला अधजला नवजात, लहेरियासराय के नर्सिंग होम में अवैध गर्भपात के धंधे का आरोप

दरभंगा में चौराहे के नजदीक कचरे के ढ़ेर में नवजात बच्चे का अधजला शरीर पड़ा मिला। इससे स्थानीय लोगों में सनसनी फैल गई। लोगों ने आसपास के अवैध क्लीनिकों और उनमें होने वाले गर्भपात पर एक्शन की मांग उठाई।

दरभंगा में कचरे में मिला अधजला नवजात, लहेरियासराय के नर्सिंग होम में अवैध गर्भपात के धंधे का आरोप
Ratanलाइव हिंदुस्तान,दरभंगाTue, 11 Jun 2024 07:34 PM
ऐप पर पढ़ें

दरभंगा में कूड़े के ढ़ेर में एक अधजले नवजात बच्चे का शरीर पड़ा मिलने से सनसनी फैल गई। यह घटना दरभंगा में लहेरियासराय के बेंता चौराहा की है। स्थानीय लोगों ने बेंता चौक के आसपास फलते-फूलते नर्सिंग होम और क्लीनिक को इस तरह के अवैध गर्भपात का दोषी ठहराया है। पुलिस ने स्थानीय लोगों पर आरोप लगाया है कि ऐसी घटनाओं से जुड़ी सीसीटीवी फुटेज लोग शेयर करने से हिचकिचाते हैं। इस कारण छानबीन में बाधा उत्पन्न होती है। 

 

चौकी प्रभारी ने बताई खोजबीन में होने वाली बाधा 

चौकी प्रभारी हरेंद्र कुमार ने घटना की पुष्टी करते हुए बताया कि स्थानीय निवासियों और दुकानदारों ने सीसीटीवी फुटेज को साझा करने से आनाकानी करी थी। इस कारण खोजबीन करने में बाधा आई थी।  फिर भी पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है और इसके आधार पर आसपास के सीसीटीवी फुटेज की जांचपड़ताल चल रही है। इसमें नाका नंबर छह की तरफ वाले सीसीटीवी की भी जांच होगी।

 

सबसे पहले बच्चा किसने देखा

नगर निगम का सफाई कर्मचारी कचरा एकट्ठा कर रहा था तभी उसे बच्चे का शव मिला था। बेंता थाने में सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर डेड बॉडी को बरामद कर दरभंगा मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल को पोस्टर्माटम के लिए भेज दिया था। ताकि मौत की असल वजह साफ हो सके। 

 

स्थानीय क्लीनिकों के खिलाफ उठी एक्शन की मांग

इस भयावह घटना की जानकारी लगते ही लोगों का हुजूम जुट गया। लोगों ने इस तरह के कुकृत्य के खिलाफ एक्शन लेने की मांग की। लोगों ने इस तरह के बढ़ते मामलों में स्थानीय नर्सिंग होम और क्लीनिक को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके खिलाफ सख्त कानूनी कदम उठाने की मांग की। दरभंगा के सिविल सर्जन डॉ. अनिल कुमार से संपर्क करने के कई प्रयास किए गए, लेकिन उनका फोन बंद आने के कारण उनसे बात न हो सकी। 

 

पहले भी मिल चुके हैं मरे हुए बच्चे और भ्रूण

वार्ड परिषद फिरदौस जहां ने बताया कि इस जगह पहले भी इस तरह से नवजात शिशुओं के मरे हुए शरीर मिल चुके हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि अक्सर यहां मानव भ्रूण पड़े मिलते हैं, इनको कुत्ते नोचते हुए भी दिख जाते हैं। फिरदौस ने घटना स्थल के आसपास मौजूद सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगालने की बात कही। इस तरह का कुकृत्य दोबारा न हो इसके लिए उन्होंने सख्त कारवाई करने की भी मांग की। फिरदौस ने प्रशासन से गुहार लगाई है कि घटना के पीछे जिम्मेदार लोगों को सख्त से सख्त सजा दी जाए ताकि इस तरह का कदम कोई दोबारा न उठाए ।