DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बजट से उम्मीदें: आयकर छूट की सीमा तीन लाख हो जाए तो बन जाए बात
बिहार

बजट से उम्मीदें: आयकर छूट की सीमा तीन लाख हो जाए तो बन जाए बात

पटना हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay
Fri, 05 Jul 2019 09:10 AM
बजट से उम्मीदें: आयकर छूट की सीमा तीन लाख हो जाए तो बन जाए बात

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को आम बजट पेश करेंगी। इस बजट से लोगों को काफी उम्मीदें हैं, क्योंकि यह मोदी सरकार के दोबारा सत्ता में आने के बाद पहला बजट होगा। इंडस्ट्री लीडर्स, कॉर्पोरेट प्रतिनिधियों, मिडिल—इनकम ग्रुप और वेतनभोगी लोग बजट में इनकम टैक्स राहत, टैक्स सेविंग छूट में बढ़ोतरी और दूसरे फायदे मिलने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। खास बात यह है कि आयकर छूट की सीमा तीन लाख हो जाए तो एक बड़ा तबका इससे लाभान्वित होगा। इसकी उम्मीद लोग लगाए बैठे हैं। फिलहाल ढाई लाख रुपये सीमा तक ही आयकर छूट है।

अर्थव्यवस्था की सुस्त चाल को चाहिए रफ्तार
इसमें कोई संदेह नहीं कि भारतीय अर्थव्यवस्था इस समय कुछ चुनौतियों से जूझ रही है। नई सरकार के सामने सबसे पहली चुनौती अर्थव्यवस्था को तेजी देने की होगी जिसकी चाल पिछले कुछ वक्त से सुस्त सी पड़ गई है। पिछले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी की वृद्धि दर 6.5 प्रतिशत पर अटक गई। 

रोजगार भी नई सरकार के लिए निश्चित रूप से एक चुनौती होगी। रोजगार के मोर्चे पर फिलहाल उतनी अच्छी तस्वीर नहीं दिखती। दीर्घावधिक योजनाओं के लिए कौशल विकास को बढ़ावा देना आवश्यक होगा। इसके लिए विनिर्माण में कपड़ा, वाहन, चमड़ा और सेवा में स्वास्थ्य, शिक्षा और पर्यटन जैसे श्रम आधारित उद्योगों पर ध्यान केंद्रित करना होगा। इस हकीकत से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि बदलते वक्त के साथ ऑटोमेशन को अपनाया जा रहा है। इससे परंपरागत नौकरियां खतरे में पड़ेंगी, लेकिन इससे नई तकनीकी नौकरियों की राह भी खुलेगी। आमलोगों के उपयोग रसोई गैस, पेट्रोल-डीजल, दवा, रेल किराया आदि को भी महंगाई से बचाना होगा।

बजट भाषण के दो हिस्से
वित्त मंत्री के बजट भाषण में दो हिस्से होते हैं। पार्ट ए और पार्ट बी। पार्ट ए में हर सेक्टर के लिए आवंटन का मोटे तौर पर जिक्र होता है। इनके लिए सरकार की नई योजनाओं का ऐलान होता है। इस तरह से इससे सरकार की नीतिगत प्राथमिकताओं का पता चलता है। पार्ट बी में सरकार के खर्च के लिए पैसा जुटाने के लिए टैक्सेशन के प्रस्ताव होते हैं।

संबंधित खबरें