ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारमहागठबंधन में टूट: खेला करने वालों के साथ खेला हो गया, सम्राट चौधरी के निशाने पर तेजस्वी यादव

महागठबंधन में टूट: खेला करने वालों के साथ खेला हो गया, सम्राट चौधरी के निशाने पर तेजस्वी यादव

सम्राट चौधरी ने तेजस्वी यादव पर तंज कसते हुए कहा कि जन विश्वास यात्रा पर निकले लोगों पर उनकी ही पार्टी के विधायकों को भरोसा नहीं है। जो लोग खेला करने का दावा कर रहे थे, उनके साथ ही खेला हो गया।

महागठबंधन में टूट: खेला करने वालों के साथ खेला हो गया, सम्राट चौधरी के निशाने पर तेजस्वी यादव
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाWed, 28 Feb 2024 12:03 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार विधानसभा की कार्यवाही के दौरान ही विपक्षी खेमे से कांग्रेस के दो और राजद के एक विधायक सत्तापक्ष के पाले में आ गए।  मंगलवार को विधानसभा की दूसरी पाली में बिक्रम से कांग्रेस के विधायक सिद्धार्थ सौरभ और चेनारी विधायक सह पूर्व मंत्री मुरारी गौतम के अलावा राजद से मोहनियां की विधायक संगीता कुमारी सत्तापक्ष की कतार में बैठ गईं। बाद में, मीडियाकर्मियों से बातचीत में तीनों ने स्वीकारा कि वे भाजपा में शामिल होंगे।  वहीं राज्य के डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने तेजस्वी यादव पर तंज कसते हुए कहा कि जन विश्वास यात्रा पर निकले लोगों पर उनकी ही पार्टी के विधायकों को भरोसा नहीं है। देश में एनडीए की लहर है और बिहार की सभी 40 सीटों पर जीत तय है। जो लोग खेला करने का दावा कर रहे थे, उनके साथ ही खेला हो गया। उन पर अब किसी को भरोसा नहीं रहा। 

दरअसल, दूसरी पाली के दौरान ग्रामीण विकास विभाग की अनुदान मांग पर चर्चा चल रही थी। पक्ष-विपक्ष के सदस्य अपनी-अपनी राय रख रहे थे। इसी क्रम में लगभग चार बजे उपमुख्यमंत्री सह प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी अपनी सीट पर आए। उनके साथ विपक्षी खेमे के तीनों विधायक भी थे। तीनों विधायकों में सिद्धार्थ सौरभ और मुरारी गौतम एक साथ बैठे, जबकि संगीता कुमारी एनडीए की महिला विधायकों के साथ जाकर बैठ गईं। विपक्ष के तीनों विधायकों के सत्तापक्ष में बैठने पर सत्ताधारी दल के सदस्यों ने मेज थपथपाकर उनका स्वागत किया। सत्ताधारी दल के सदस्य देर तक मेज थपथपाते रहे और विपक्षी सदस्य अवाक रह गए।  

बिहार में भाजपा की बड़ी सेंध, कांग्रेस और आरजेडी के तीन विधायकों ने बदला पाला

तीन पहले ही बदल चुके हैं पाला
विपक्षी खेमे से तीन विधायक पहले ही सत्तापक्ष का दामन थाम चुके हैं। सरकार के विश्वासमत प्राप्त करने के दिन 12 फरवरी को राजद के तीन विधायक नीलम देवी, प्रह्लाद यादव और चेतन आनंद सत्तापक्ष की ओर बैठ गए थे। उस दिन भी चलते सदन में ही तीनों विधायक विपक्ष के बजाए सत्ताधारी दल में शामिल हो गए थे। इस तरह इस सत्र में विपक्ष के अब तक छह विधायक सत्ताधारी दल का दामन थाम चुके हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें