DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार: सीतामढ़ी स्टेशन पर बम की सूचना से हड़कंप, आनन-फानन में ट्रेनों का परिचालन रोका

सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन

नेपाल बॉर्डर से सटे सीतामढ़ी स्टेशन पर बम रखे जाने की सूचना पर गुरुवार की सुबह रेलवे अधिकारियों में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही कंट्रोल से आनन-फानन में ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया। इससे दरभंगा-सीतामढ़ी-बैरगनिया, सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर और सीतामढ़ी-रक्सौल रेलखंड पर करीब पांच घंटे का ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। रक्सौल से आनंद विहार दिल्ली जाने वाली सद्भावना एक्सप्रेस और हैदराबाद एक्सप्रेस सहित पैसेंजर ट्रेनें विभिन्न स्टेशनों पर खड़ी रही। इससे ट्रेन में फंसे यात्रियों के साथ-साथ प्लेटफार्म पर इंतजार कर रहे यात्री परेशान रहे।

दूसरी ओर सूचना मिलने के साथ ही आरपीएफ और जीआरपी ने स्टेशन परिसर की जांच शुरू कर दी। वहीं सोनबरसा स्थित एसएसबी कैंप से डॉग स्क्वॉयड को बुलाया गया। सीतामढ़ी के एएसपी अभियान विजय शंकर सिंह भी मौके पर पहुंचे और जांच के लिए टीम गठित की। इधर, रक्सौल आरपीएफ इंस्पेक्टर राजकुमार व जीआरपी थानाध्यक्ष अनिल कुमार ने संयुक्त रूप से जंक्शन सहित पूरे रेल परिक्षेत्र के चप्पे-चप्पे की जांच की व संदिग्ध प्वाइंट की तलाशी ली।

बताते हैं कि सुबह करीब सवा 10 बजे रीगा स्टेशन के अप सिगनल के क्षतिग्रस्त होने की सूचना डीएमयू के चालक ने स्टेशन अधीक्षक को दी। सूचना मिलने के बाद स्टेशन अधीक्षक ने जब जांच करायी तो वहां दो पर्चा मिला। एक पर्चा पर सीतामढी में बम होने की बात लिखी गयी थी। जिसकी सूचना कंटोल को दी गयी। कंट्रोल से ट्रेन का परिचालन रोक जांच का निर्देश दिया गया। समस्तीपुर से आरपीएफ का डॉग स्क्वॉयड भी असिस्टेंट कमांडेंट के साथ सीतामढ़ी पहुंचा। सीतामढ़ी में जांच के बाद जब आरपीएफ और जीआरपीएफ आश्वस्त हो गई कि बम रखे जाने की सूचना गलत है, तब ट्रेन परिचालन शुरू किया गया है। मालूम हो कि पिछले वर्षों जनवरी माह में ही आईएसआई कनेक्शन में घोड़ासहन और आदापुर में बम विस्फोट की योजना का एनआईए खुलासे के बाद यह रेल खंड आतंकी निशाने पर है।

10:15 से 3 बजे तक बंद रहा परिचालन:
बम रखने की अफवाह के कारण सुबह सवा 10 बजे के बाद ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया। इससे रीगा, बैरगनिया, जनकपुर रोड, रक्सौल, रुन्नीसैदपुर समेत अन्य स्टेशनों पर मालगाड़ी समेत डीएमयू व एक्सप्रेस ट्रेनें खड़ी रही।

दोपहर तीन बजे सीतामढ़ी आयी पहली ट्रेन
स्टेशन व ट्रैक पर बम नहीं मिलने के बाद दोपहर तीन बजे रीगा की ओर से मालगाड़ी सीतामढ़ी स्टेशन के प्लेटफार्म एक पर पहुंची। जिसे कॉशन देने के बाद उसे दोपहर तीन बजकर दो मिनट पर भीसा की ओर रवाना कर दी गयी। उसके बाद सद्भावना एक्सप्रेस, डीएमयू एक-एक कर स्टेशन पर आयी। स्टेशन अधीक्षक मदन प्रसाद ने बताया तीन बजे के बाद गाड़ियों का परिचालन समान्य हो गया।

अधिकारियों को सर्तक रहने का निर्देश
आरपीएफ के सहायक कमांडेंट अजीत कुमार शाही सर्च अभियान का जायजा लिया। अपने बल के अधिकारियों और जवानों को जीआरपी और जिला पुलिस के साथ समन्वय बना कर सतर्क रहने का निर्देश दिया है।

डीएमयू के लोको पायलट ने दी सिगनल क्षतिग्रस्त की सूचना
सीतामढ़ी-रक्सौल रेलखंड के रीगा रेलवे स्टेशन के अप होम सिगनल नंबर एस-1 के क्षतिग्रस्त होने की सूचना डीएमयू के लोको पायलट ने स्टेशन अधीक्षक को दी। सूचना के बाद रेलकर्मी जब सिगनल के पास पहुंचा तो उसे दो पर्चे मिले। एक पर्चे पर सीतामढ़ी स्टेशन पर बम रखे की सूचना थी, तो वहीं दूसरे पर पीएम के पत्र का जवाब नहीं देने की बात लिखी थी। इसकी सूचना कंट्रोल को दी गयी। जिसके बाद आनन-फानन में ट्रेन का परिचालन रोक दिया गया। सूचना पर स्टेशन अधीक्षक मनोज कुमार, सीओ राम उरांव, बीडीओ नीतू प्रियदर्शी, रीगा थाना अध्यक्ष ललन कुमार आदि मौके पर पहुंचकर छानबीन की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bomb information at Sitamarhi railway station stirred railway officials Train operations for some time