ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारRJD को BJP तो नीतीश को जीतन मांझी दिखाएंगे ताकत, गांधी और अंबेडकर बनेंगे गवाह

RJD को BJP तो नीतीश को जीतन मांझी दिखाएंगे ताकत, गांधी और अंबेडकर बनेंगे गवाह

आरजेडी के लालू यादव को चैलेंज देने की तैयारी की है तो दूसरी ओर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी नीतीश कुमार को टेंशन देने का जुगाड़ लगा रहे हैं। बीजेपी गोवर्धन महोत्सव पर यादवों का महाजुटान कर रही है।

RJD को BJP तो नीतीश को जीतन मांझी दिखाएंगे ताकत, गांधी और अंबेडकर बनेंगे गवाह
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,पटनाTue, 14 Nov 2023 10:42 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार की राजधानी पटना आज मंगलवार को सियासी हलचलों से गर्म रहेगा। एक तरफ बीजेपी ने गोवर्धन पूजा के बहाने शक्ति प्रदर्शन करके आरजेडी के लालू यादव को चैलेंज देने की तैयारी की है तो दूसरी ओर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी नीतीश कुमार को टेंशन देने का जुगाड़ लगा रहे हैं। दोनों राजनैतिक आयोजन दो बड़े महापुरुषों के नाम पर बने स्थलों पर आयोजित किये जा रहे हैं।

बीजेपी आज बापू सभागार में गोवर्धन महोत्सव मना रही है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय की अगुआई में पटना में यदुवंशियों अर्थात यादवों का महाजुटान होने जा रहा है। दावा है कि आज 21 हजार से ज्यादा यादव समाज के सदस्य बीजेपी की सदस्यता लेंगे।  बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता व विधान पार्षद प्रो नवल किशोर यादव ने दावा किया है कि गोवर्धन पूजा के दिन मंगलवार को 21 हजार यदुवंशी भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे। बापू सभागार में आयोजित यदुवंशियों के इस मिलन समारोह में भाजपा के कई नेता उपस्थित रहेंगे। पूर्व मंत्री रामसूरत राय, राम कृपाल यादव, नंद किशोर यादव समेत कई बड़े चेहरे इस आयोजन को सफल बनाने में जी जान से जुटे है। 

दरअसल आरजेडी भूमिहार वोटों को अपनी ओर आकर्षित करने का जुगाड़ लगा रही है। पिछले दिनों आरजेडी चीफ लालू यादव बिहार के पहले सीएम श्री कृष्ण सिंह की जयंती में मु्ख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। पार्टी की ओर से श्रीबाबू की जयंती मनाई गई। तेजस्वी यादव ने भूमिहारों को बड़ा ऑफर भी दिया। अब बीजेपी आरजेडी के परंपरागत वोट यादव को झटकने में लगी है। यादवों को समझाया जा रहा है कि राजद हिन्दू धर्म और सनातन के विरोध में काम करती है। राजद नेताओं द्वारा हिन्दू देवी देवताओं के अस्तित्व पर सवाल उठाए जा रहे हैं। यादव समाज खुद को भगवान कृष्ण के वंशज मानते हैं। इसे देखते हुए गोवर्धन पूजा के मौके पर महाजुटान कर आरजेडी को दिखाया जा रहा कि यादव बीजेपी के साथ हैं। माना जाता है कि भूमिहार बीजेपी के वोटर हैं। 20-25 प्रतिशत लालू समर्थक यादवों को तोड़कर बीजेपी बिहार में बेहतर कर सकती है।
 
दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी आज बाबा साहब भीम राव अंबेडकर स्मारक पर नीतीश कुमार के खिलाफ आन्दोलन का विधिवत आगाज करने वाले हैं। हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के संस्थापक संरक्षक मांझी पटना हाई कोर्ट के पास स्थित अंबेडकर प्रतिमा के तले विधानसभा में नीतीश कुमार के बयान के विरोध में मौन प्रदर्शन करेंगे। मांझी के साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक और अन्य संगठनों से जुड़े कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। सोमवार को जीतन राम मांझी ने इसकी जानकारी ट्वीटर हैंडल पर दी थी।

जीतन राम मांझी यह साबित करना चाहते हैं कि नीतीश कुमार दलितों के विरोधी हैं। शीतकालीन सत्र के दौरान विधानसभा में नीतीश कुमार ने जीतन राम मांझी से डांटने वाले अंदाज में बात की। कहा कि कोई सेंस नहीं है इसको। मैनें मूर्खता की जो मुख्यमंत्री बना दिया। नीतीश ने जीतन राम मांझी को बहुत कुछ भला बुरा कहा। मांझी मंजे हुए खिलाड़ी की तरह सदन में चुप हो गए। अब जनता में नीतीश कुमार की इमेज खराब करने में लगे है।


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें