DA Image
1 अक्तूबर, 2020|5:40|IST

अगली स्टोरी

भाजपा सांसद ने बिहार और मेघालय के दो गांवों के लिए 6000 सेनेटरी नैपकिन भेजे

sanitary napkin  bjp mp  rakesh sinha

भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर एक बेहतर कदम उठाया है। प्रधानमंत्री के भाषण से प्रेरित होकर उन्होंने अपने द्वारा लिए गए 2 गांवों में महिलाओं के लिए 6000 सेनेटरी नैपकिन भेजने का निर्णय लिया। ये गांव हैं बेगूसराय का बरैपुरा और मेघालय का कोंगथोंग। ये दोनों गांव सामाजिक व आर्थिक रूप से पिछड़े हैं।

भाजपा सांसद ने इस बाबत प्रधानमंत्री को एक पत्र भी लिखा है। कहा है कि प्रधानमंत्री के लाल किले के प्राचीर से किया गया भाषण प्रगतिशील सामाजिक बदलाव का एक जीवंत दस्तावेज बन गया है। खासकर किशोरियों एवं महिलाओं के लिए सेनेटरी नैपकिन की आवश्यकता की पूर्ति को राज्य की कल्याणकारी योजनाओं में प्राथमिकता के रूप में रेखांकित किया गया है। यह एक जटिल समस्या का सरल तरीके से निदान का आधार बन गया। मासिक धर्म व सेनेटरी नैपकिन की खुली अभिव्यक्ति अभी भी नही है। इस कारण मां बहनों को मानसिक व स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याओं से गुजरना पड़ता है।

साल 2017 में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देश के 35 शहरों में सर्वेक्षण किया। इसमें पता चला कि 35 फीसदी महिलाओं का मानना था कि दुकानों में ग्राहकों की उपस्थिति में इसे खरीदने में असहजता होती है। 45 फीसदी ने इसे निषेध माना। 

सांसद ने कहा कि आमतौर पर यह विषय अब तक महिला आंदोलन और विमर्श तक ही सीमित रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री के उद्बोधन ने सामान्य समाज को आत्मा लोचन करने एवं बदलाव के लिए प्रेरित किया है। आंकड़े बताते हैं पिछले 6 सालों में महिलाओं की स्थिति में चाहे भ्रूण हत्या का सवाल हो या उनकी शिक्षा का, व्यापक परिवर्तन आया है।  15 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री ने बेटी बेटा के बीच में प्रचलित असमानता को लेकर अपनी सोच में सुधार की बात कही थी। बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में अप्रत्याशित उपलब्धि हासिल की। 2015 से 17 के बीच कई पिछले राज्यों में भ्रूण हत्या की घटना में कमी आई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bjp mp rakesh sinha sent 6000 sanitary napkins to two villages in bihar begusarai barapura and meghalaya kongthong