ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारMLC की खाली हुई सीटों पर बीजेपी ने फाइनल किए संभावित कैंडिडेट, एक दर्जन नाम आलाकमान को भेजे

MLC की खाली हुई सीटों पर बीजेपी ने फाइनल किए संभावित कैंडिडेट, एक दर्जन नाम आलाकमान को भेजे

बिहार विधान परिषद की खाली हुई सीटों के लिए बीजेपी ने करीब एक दर्जन नामों की लिस्ट पार्टी आला कमान को भेजी है। 11 सदस्यों का कार्यकाल 6 मई को खत्म हो रहा है। जिनमें बीजेपी के 3 सदस्य शामिल हैं।

MLC की खाली हुई सीटों पर बीजेपी ने फाइनल किए संभावित कैंडिडेट, एक दर्जन नाम आलाकमान को भेजे
Sandeepहिन्दुस्तान,पटनाTue, 27 Feb 2024 10:46 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार विधान परिषद की खाली हुई सीटों के आलोक में भाजपा ने अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं। सोमवार को चुनाव समिति की बैठक में प्रदेश नेतृत्व ने केंद्रीय नेतृत्व को दर्जन भर नामों की सूची भेज दी। पार्टी की ओर से तीन विधान पार्षद कौन बनेंगे, इस पर फैसला अब आलाकमान के स्तर पर ही होगा। सूत्रों के अनुसार पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष बिहार दौरे पर हैं। 

सोमवार की देर शाम प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सह उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में बीएल संतोष सहित चुनाव समिति के अन्य सदस्य शामिल हुए। बिहार विधान परिषद के 11 सदस्यों का कार्यकाल खत्म हो रहा है। इसमें से भाजपा के तीन नेता मंगल पांडेय, शाहनवाज हुसैन व संजय पासवान का कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

पार्टी के विधायकों की संख्या के अनुसार भाजपा को चार सीटें मिलनी तय है। लेकिन गठबंधन के तहत भाजपा एक सीट हम को देने जा रही है। हम कोटे से मंत्री संतोष सुमन का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी जीतन राम मांझी की पार्टी को विप की एक सीट देने का समर्थन कर चुके हैं।

आपको बता दें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और विधान परिषद में नेता विरोधी दल राबड़ी देवी समेत 11 एमएलसी का टर्म पूरा हो रहा है। जिसमें अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण मंत्री संतोष कुमार सुमन, खालिद अनवर, प्रेमचंद्र मिश्रा, पूर्व मंत्री मंगल पांडे, संजय झा, संजय पासवान, रामेश्वर महतो, रामचंद्र पूर्वे और पूर्व मंत्री शाहनवाज हुसैन शामिल हैं। इनमें से संजय झा पहले ही राज्यसभा जा चुके हैं। इन सभी सदस्यता 6 मई को समाप्त हो रही है। 

विधान परिषद चुनाव के लिए 4 मार्च को नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा। 21 मार्च को चुनाव होगा और उसी दिन शाम में परिणाम की घोषणा कर दी जाएगी। संख्या बल की बात करें तो विधान परिषद की एक सीट पर जीत के लिए विधानसभा के 21 सदस्यों के वोट की जरूरत है। विधानसभा में संख्या बल के हिसाब से एनडीए आसानी से छह सीटों पर जीत हासिल करता हुआ दिख रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें