ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारविधवा और बच्चों का क्या होगा? अपराधियों की गोली से मौत पर मिले मुआवजा, बीजेपी की नीतीश सरकार से मांग

विधवा और बच्चों का क्या होगा? अपराधियों की गोली से मौत पर मिले मुआवजा, बीजेपी की नीतीश सरकार से मांग

विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि प्रशासनिक अराजकता एवं अपराधी की गोली से मौत होने पर नीतीश सरकार मुआवजा का प्रावधान करे।उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में अपराधी बेखौफ और खुलेआम घटनाओं को अंजाम दे रहे है।

विधवा और बच्चों का क्या होगा? अपराधियों की गोली से मौत पर मिले मुआवजा, बीजेपी की नीतीश सरकार से मांग
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाTue, 21 Nov 2023 05:52 PM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा विधानमंडल दल के नेता विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि प्रशासनिक अराजकता एवं अपराधी की गोली से मौत होने पर सरकार मुआवजा का प्रावधान करे। मंगलवार को जारी बयान में उन्होंने कहा कि मृतक के परिवार में बिलखती विधवा, सिसकते बच्चे और कराहते माता-पिता को कोई देखने वाला नहीं है। उनके लिए रोजी-रोटी का इंतज़ाम करने वाले का दुनिया से चले जाने पर परिवार की दयनीय स्थिति के कारण मुआवजा जरुरी है। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में अपराधी बेख़ौफ़ और खुलेआम घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। प्रशासन से उनका डर भय बिलकुल ख़त्म हो चुका है। 

विजय सिन्हा ने कहा कि हाल ही में पटना के बिक्रम निवासी देवराज यादव की हत्या थाना परिसर से निकलते ही कर दी गयी। मुंगेर में बीएमपी जवान बबलू यादव की हत्या थाना से महज 200 मीटर की दूरी पर कर दी गयी। ऐसी घटनाओं से यह सिद्ध हो गया है कि बिहार में हो रही आपराधिक घटनाओं में प्रशासन का अपराधियों को पूर्ण संरक्षण प्राप्त है। अपराधी को बचाने और पैसे के दोहन से पुलिस का भय खत्म हो गया है। महागठबंधन सरकार बनने के बाद हत्या एवं अपराध की वारदातों में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। पटना, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर सहित राज्य के सभी जिलों में रोज हत्याएं हो रही है।  

छठ महापर्व के दिन भी अशांत और असुरक्षित रहा बिहार: नित्यानंद राय
वहीं केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बिहार की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि बिहार छठ महापर्व के दिन भी अपराधियों के कोहराम से अशांत और असुरक्षित रहा। नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बिहार की सच्ची तस्वीर यही है। उन्होंने कहा कि अपराधियों के बुलंद हौसले के आगे कानून दम तोड़ रहा है और अपराधियों के सामने बिहार सरकार ने घुटने टेक दिए है। बिहार का हर नागरिक आज यदि खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है तो इसके पीछे लचर कानून व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि उचित निर्णय लेने की क्षमता सरकार में बैठे लोगों के पास नहीं है। सत्ता में बैठे लोग अपनी कुर्सी संभालने में लगे हुए हैं। विपक्षी गठबंधन बिहार के नहीं बल्कि अपने हित के लिए एकजुट हुआ है। बिहार की जनता बहुत जल्द ऐसी निरीह और लाचार सरकार से अपना पीछा छुड़ाएगी और प्रदेश में न्यायप्रिय और सुशासन के लिए भाजपा की सरकार स्थापित करेगी।