DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › पंचायत चुनाव: बायोमेट्रिक सिस्टम से फर्जी मतदाताओं पर कसा जा रहा नकेल, 122 बोगस मतदाताओं की हुई पहचान
बिहार

पंचायत चुनाव: बायोमेट्रिक सिस्टम से फर्जी मतदाताओं पर कसा जा रहा नकेल, 122 बोगस मतदाताओं की हुई पहचान

लाइव हिन्दुस्तान,पटनाPublished By: Sudhir Kumar
Fri, 24 Sep 2021 01:49 PM
पंचायत चुनाव: बायोमेट्रिक सिस्टम से फर्जी मतदाताओं पर कसा जा रहा नकेल, 122 बोगस मतदाताओं की हुई पहचान

बिहार पंचायत चुनाव में बायोमेट्रिक सिस्टम के उपयोग के अच्छे नतीजे सामने आ रहे हैं। बोगस वोटिंग रोकने के लिए पहली बार पंचायत चुनाव में बायोमेट्रिक सिस्टम का उपयोग किया जा रहा है। जानकारी मिली है कि प्रथम चरण चुनाव के अब तक के मतदान में 122 बोगस वोटरों की पहचान बायोमेट्रिक मशीन से हुई है। ऐसे वोटर्स को वोट डालने से रोक दिया गया है। पंचायत चुनाव के सभी 2119 मतदान केंद्रों पर बायोमेट्रिक सिस्टम लगाया गया है जहां तकनीकी विशेषज्ञ वोट डालने से पहले वोटरों की पहचान करते हैं। 

बोगस वोटिंग रोकने के लिए मतदान केंद्रों से वेबकास्टिंग कराई जा रही है। हालांकि 220 केंद्रों पर ही वेबकास्टिंग का सिस्टम लगाया गया है। पंचायत चुनाव के पहले चरण में 10 जिलों के 12 प्रखंडों में आज 24 सितम्बर को मतदान हो रहे हैं। प्रथम चरण में कुल 151 पंचायतों के जनप्रतिनिधियों के चुनाव के लिए वोटिंग हो रही है। शाम 5 बजे तक वोटिंग कराई  जाएगी। 

राज्य निर्वाचन आयोग ने मतदाताओं की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। यह नंबर है 1800-3457-243।  इसके अलावा सोशल मीडिया के माध्यम से भी मतदाता चुनाव आयोग से संपर्क कर अपनी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं। पहले चरण में 26 और 27 सितंबर को मतगणना होगी। पहली बार पंचायत चुनाव में जिला मुख्यालयों में मतगणना कराई जा रही है। इसके पहले प्रखंड मुख्यालयों में मतगणना होती थी।

संबंधित खबरें