ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारBihar Weather: पटना समेत 19 जिलों में बारिश, तीन जगह ओले गिरे, आज यहां अलर्ट

Bihar Weather: पटना समेत 19 जिलों में बारिश, तीन जगह ओले गिरे, आज यहां अलर्ट

मौसम विभाग ने गुरुवार को पूर्वी बिहार के जिलों में हल्की बारिश की चेतावनी जारी की है। वहीं, अन्य जिलों में बादल छाए रहेंगे। राज्य में फिलहाल लोगों को कड़ाके की ठंड से राहत मिली है।

Bihar Weather: पटना समेत 19 जिलों में बारिश, तीन जगह ओले गिरे, आज यहां अलर्ट
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाThu, 15 Feb 2024 07:55 AM
ऐप पर पढ़ें

Bihar Weather Today: बिहार में बारिश होने और धूप न निकलने से ठंड बढ़ गई। न्यूनतम तापमान सामान्य से चार से पांच डिग्री ऊपर चला गया है, जबकि अधिकतम तापमान में गिरावट आई है। राज्य में बीते 24 घंटे के भीतर पटना समेत 19 जिलों में रुक-रुककर बारिश हुई। रोहतास, गया और भोजपुर जिले में ओले भी गिरे। आरा के जगदीशपुर में ठनका गिरने से एक लड़की की मौत हो गई। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक गुरुवार को राज्य के पूर्वी भागों में एक-दो जगहों पर हल्की बारिश होगी, जबकि शेष जिलों में बादल छाए रहेंगे। गुरुवार को राज्य के उत्तर मध्य व उत्तर पूर्व इलाकों में घने कोहरा के आसार हैं।

रोहतास के दिनारा प्रखंड में मंगलवार रात में ओलावृष्टि हुई। लगभग पांच से सात मिनट तक ओले गिरते रहे। यहां फसलों को थोड़ा नुकसान हुआ है। भोजपुर के पीरो इलाके में भी ओलावृष्टि हुई। बुधवार की दोपहर गया के इमामगंज और डुमरिया प्रखंड में ओले गिरे। गया शहर सहित अन्य प्रखंडों में गरज के साथ वर्षा हुई। आंधी से घरों से एस्बेस्टस उड़ गए। कई पेड़ गिर गए। 

बारिश से गेहूं की फसल को फायदा, सरसों और मसूर को नुकसान
राज्य में दो दिनों से हो रही बारिश गेहूं के किसानों को राहत देने वाली है। उन्हें सिंचाई का खर्च बचेगा। वहीं, राई-सरसों और मसूर के किसानों के माथे पर बल पड़ गया है। ज्यादा बारिश होने पर उन्हें नुकसान का डर हो सकता है।

कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि गेहूं के अलावा चना की फसल को भी बारिश से फायदा होगा। हालांकि, चना में फूल आना शुरू हुआ है उसे कुछ नुकसान हो सकता है। वहीं, नवंबर में बोए जाने वाले मसूर में फूल लग रहे हैं। गया-औरंगाबाद इलाके में बारिश राज्य के अन्य इलाकों की तुलना में ज्यादा हुई है। बारिश होने से फसल बर्बाद होने का डर सता रहा है। टाल इलाके में भी मसूर, चना का यही हाल है। राई-सरसों की फसल को भी नुकसान हुआ है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें