ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारBihar Weather Today: बारिश के साथ होगा मार्च का आगाज, फिर बढ़ेगी ठंड, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

Bihar Weather Today: बारिश के साथ होगा मार्च का आगाज, फिर बढ़ेगी ठंड, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

बिहार में मार्च महीने की शुरूआत बारिश के साथ होगी। जिसके चलते फिर ठंड में बढ़ोतरी होगी। कई जिलों में ओले गिरने की भी संभावना है। इन दिनों खांसी-बुखार के मरीज बढ़ रहे हैं।

Bihar Weather Today: बारिश के साथ होगा मार्च का आगाज, फिर बढ़ेगी ठंड, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
Sandeepवरीय संवाददाता,भागलपुरThu, 29 Feb 2024 07:20 AM
ऐप पर पढ़ें

अब मौसम का बदलाव दिखने लगा है। दो दिन में हो रही चटक धूप ने हवाओं से नमी चुरा ली है। बह रही पछुआ हवा शुष्क हो चली है। जिससे दिन एवं रात के तापमान में उत्तरोतर वृद्धि होने लगी है। गुरुवार को भी दिन संग रात का पारा चढ़ा तो आर्द्रता का स्तर आधा हो गया। भारतीय मौसम विभाग के अनुमानों की मानें तो अभी एक मार्च तक ऐसे मौसम शुष्क रहेगा। दो मार्च से बदलाव के रूप में आंशिक बदरी तो तीन एवं चार मार्च को हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है।

बुधवार को भागलपुर का अधिकतम तापमान 28.0 व न्यूनतम 15.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य तापमान से क्रमश दो व एक डिग्री सेल्सियस नीचे रहा। बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर के मौसम वैज्ञानिक डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि दो मार्च को जहां आंशिक रूप से बादल छाए रह सकते हैं तो वहीं आंशिक बदरी के बीच तीन एवं चार मार्च को हल्की बारिश या बूंदाबांदी हो सकती है। वहीं गुरुवार से दो मार्च तक मौसम शुष्क बना रहेगा। इस दौरान दो से छह किमी प्रति घंटे की औसत रफ्तार से पछुआ हवा के बहने का अनुमान है।

इन दिनों मौसम में बदलाव लगातार दिख रहा है। दिन में हल्का गर्म और रात में हल्की ठंड से शरीर एडजस्ट नहीं कर पा रहा है। बदल रहे इस मौसम के दौर में मायागंज अस्पताल में सर्दी-खांसी व बुखार के मरीज बढ़ गये। वरीय फिजिशियन डॉ. राजकमल चौधरी बताते हैं कि मेडिसिन ओपीडी में एक तरफ जहां इलाज कराने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 400 के पार हो गई तो सर्दी-खांसी, बुखार, एलर्जी व वायरल के मरीजों की संख्या 70 से 80 मरीज रोजाना

मायागंज अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को उल्टी-दस्त, पेट में दर्द से लेकर खांसी की दवा तक नहीं मिली। ओपीडी के दवा काउंटर पर कफ सिरप, ओफ्लॉक्सासिन, डी-साइक्लासासिन व डी साइक्लोमाइन दवा मरीजों को उपलब्ध नहीं है और उन्हें बाहर जाकर दवा खरीदनी पड़ी। मायागंज अस्पताल के अधीक्षक ने बताया कि इस समय ओपीडी में 72 तरह की दवा उपलब्ध है। वहीं जो दवाएं खत्म हैं, उनकी मांग मुख्यालय को भेज दिया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें