ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबेटी की शादी में कर्जदार पिता बना दानव? तीन बच्चों को जलाकर मारने का आरोप; पसरा मातम

बेटी की शादी में कर्जदार पिता बना दानव? तीन बच्चों को जलाकर मारने का आरोप; पसरा मातम

घर वालों ने बच्चों की तलाश की पता चला कि अंदर ही फंसे हुए हैं। जब तक उन्हें निकाला गया तब तक बुरी तरह से जल चुके थे। तत्काल अस्पताल ले जाया गया यहां उनकी मृत्यु हो गई।गांव वाले काफी दुखी हैंं।

बेटी की शादी में कर्जदार पिता बना दानव? तीन बच्चों को जलाकर मारने का आरोप; पसरा मातम
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,कटिहारSat, 17 Feb 2024 05:08 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के कटिहार में दिल दहला देने वाली घटना की खबर है। आगलगी के दौरान तीन बच्चों की जिंदा जलकर मौत दर्दनाक हो गई।  एक महिला बुरी तरह से झुलस गई जिनका इलाज कराया जा रहा है। यह घटना कदवा थाना क्षेत्र के जाजा गांव की है। बताया जा रहा है कि बिजली के शॉर्ट सर्किट से आग लगी।  कदवा थाना पुलिस मामले में आवश्यक कानूनी कार्रवाई कर रही है।  आगलगी के शिकार बच्चों की पहचान 12 वर्षीय शुभंकर, 10 साल के राजा और  8 साल की रिंकी के रूप में हुई है। सभी भाई बहन थे।। 

जानकारी के मुताबिक कदवा थाना क्षेत्र के जाजा गांव निवासी दिनेश सिंह के घर में बीती रात आग लग गई। बिजली के शॉर्ट सर्किट से आग लगने की बात बताई गई गई। घटना तब हुई जब घर के लोग सो रहे थे। आग जब पूरी तरफ फैल गई तो  सो रहे लोगों को इसका एहसास हुआ। भीषण आग देख कर जो बड़े थे वह लोग भाग चले लेकिन घर के अंदर दो बच्चे सोते हुए रह गए। 

इसे भी पढ़ें- दरभंगा में मूर्ति विसर्जन बवाल में 30 से ज्यादा धराए; भागलपुर, छपरा, भोजपुर, शेखपुरा में भी झड़प
 

जब तक बच्चों निकाला गया तब तक बुरी तरह से जल चुके थे। तत्काल सभी को अस्पताल ले जाया गया डॉक्टर ने दो मरा बता दिया जबकि बच्ची का इलाज शुरू किया। बाद में रिंकी ने भी दम तोड़दिया। घटना से गांव में कोहराम मचा है।  परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। स्थानीय स्तर पर परिवार की मदद की जा रही है।

घटना की जानकारी मिलने पर कदवा थाना पुलिस गांव पहुंची।  थाना अध्यक्ष सुजीत कुमार ने बताया कि दोनों मृत बच्चों के शवों को आवश्यक कानूनी कार्रवाई के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस द्वारा घटना की छानबीन की जा रही।  प्रथम दृष्टि शॉर्ट सर्किट से आगलगी की बात बताई गई है।  पीड़ित परिवार को आवश्यक सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।  उधर दिनेश सिंह की स्थिति इतनी खराब है कि कुछ बता नहीं पा रहे हैं।

इधर गांव में एक दूसरी कहानी चल रही है। कहा जा रहा है कि दिनेश सिंह ने ही नशे की हालत में बच्चों की जान ले ली। इसी मकसद से उसने घर में आग लगाई। गांव के लोगों ने उसे शुक्रवार को पेट्रोल लाते देखा था। दिनेश सिंह मजदूर है। एक माह पहले उसकी पत्नी एक छोटी बच्ची को लेकर मायके चली गयी थी। तब से वह काफी परेशान रहता था। तीन साल से वह भारी कर्ज में था। बड़ी बेटी की शादी में उसने कर्ज लिया जिसे चुका नहींं पा रहा था। गांव के मुखिया दिलीप यादव ने जांच की मांग की है। 

पुलिस का कहना है पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है। घटना में दिनेश सिंह का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता। पुलिस उसकी पत्नी का इंतजार कर रही है। उससे पूछताछ के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें