ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारED के पास जब्त प्रॉपर्टी पर स्कूल बना रहा था शिक्षा माफिया, बच्चा राय के कॉलेज की थी 'प्रॉडिगल साइंस' टॉपर

ED के पास जब्त प्रॉपर्टी पर स्कूल बना रहा था शिक्षा माफिया, बच्चा राय के कॉलेज की थी 'प्रॉडिगल साइंस' टॉपर

बिहार में ईडी की जब्त संपत्ति पर कब्जा कर लिया गया। कब्जा की गई जमीन पर स्कूल खोलने की तैयारी भी होने लगी। ईडी की संपत्ति पर कब्जा करने वाला बिहार टॉपर घोटाले का मास्टर माइंड बच्चा राय है।

ED के पास जब्त प्रॉपर्टी पर स्कूल बना रहा था शिक्षा माफिया, बच्चा राय के कॉलेज की थी 'प्रॉडिगल साइंस' टॉपर
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाThu, 07 Dec 2023 09:03 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में ईडी की जब्त संपत्ति पर ही कब्जा कर लिया गया। कब्जा की गई जमीन पर स्कूल खोलने की तैयारी भी होने लगी। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि ईडी की जब्त संपत्ति पर कब्जा करने वाला कोई और नहीं बल्कि वर्ष 2016 के चर्चित बिहार टॉपर घोटाले का मास्टरमाइंड अमित कुमार उर्फ बच्चा राय है। मामला संज्ञान में आते ही अधिकारियों को होश उड़ गए। इस संबंध में ईडी की ओर से वैशाली जिले के भगवानपुर पुलिस स्टेशन में बच्चा राय के खिलाफ एक नई एफआईआर दर्ज कराई गई है। 

बता दें कि साल 2016 में इंटर आर्ट्स की बिहार टॉपर वैशाली जिले के भगवानपुर स्थित विशुन राय कॉलेज की छात्रा रूबी राय घोषित हुई थी। एक इलेक्ट्रॉनिक चैनल से बातचीत में रूबी ने विषय के नाम के रूप में पॉलिटिकल साइंस को प्रॉडिकल साइंस कहा तो चकराए रिपोर्टर ने पूछ लिया कि इसमें क्या पढ़ाया जाता है? इसका जवाब रूबी ने दिया कि इसमें खाना बनाने के बारे में बताया जाता है। इसके बाद सवाल उठने लगे कि जिस बच्ची को विषय के नाम और इसकी विषयवस्तु का पता नहीं वह इंटर की टॉपर कैसे हो सकती है? जांच के क्रम में बड़े घोटाले का पर्दाफाश हुआ।  

ईडी के सहायक निदेशक राजीव रंजन के द्वारा भगवानपुर थाने में दिए गए आवेदन में लिखा गया है कि पटना क्षेत्रीय कार्यालय पटना को गुप्त रूप से आवेदन प्राप्त हुआ. जिसके आलोक में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने उक्त जमीन की निरीक्षण किया तो पाया कि उपरोक्त जमीन पर अवैध रूप से निर्माण कार्य किया जा रहा है। धन शोधन निवारण अधिनियम 2002 की धारा 8(3) के तहत निर्माण प्राधिकरण द्वारा जारी आदेश का उल्लंघन है। उक्त कार्य धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत प्राधिकृत अधिकारी द्वारा जारी आदेश की अवहेलना अमित कुमार पिता राजदेव राय एवं अन्य के द्वारा की गई है। दिनांक 14 जून 2022 को पत्राचार के द्वारा डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट हाजीपुर को भी इस बाबत सूचना दी गई थी। 

ईडी के द्वारा भगवानपुर थाने में दिए गए आवेदन में लिखा गया है कि खाता नंबर 153G, खेसरा नंबर 685 थाना नंबर 273, मौजा किरतपुर राजा राम. 42 डिसमिल जमीन जो अमित कुमार पिता राजदेव राय के नाम से निबंधित केवाला संख्या 4100 है। प्रवर्तन निदेशालय पटना क्षेत्रीय कार्यालय के दखल कब्जा में है। जिसपर 15 अक्टूबर 2018 को धन शोधन निवारण अधनियम के तहत जब्त किया गया। इस जमीन पर एक साइन बोर्ड भी लगाया गया था कि यह भूमि प्रवर्तन निदेशालय पटना क्षेत्रीय कार्यालय पटना के कब्जे में है।

इस संबंध में भगवानपुर थानाध्यक्ष ने बताया है कि प्रवर्तन निदेशालय की ओर से एक आवेदन प्राप्त हुआ था, जिसके आलोक में पुलिस उक्त जमीन पर गई थी, जो जमीन प्रवर्तन निदेशालय के अधीन थी। उस पर अवैध निर्माण कार्य चल रहा था, जिसे पुलिस ने तत्काल प्रभाव से रोक दिया है। अमित कुमार उर्फ बच्चा राय पर मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि ईडी ने 2018 में बच्चा राय की 28 संपत्तियों को जब्त कर लिया था, जिनमें हाजीपुर, भगवानपुर, चेहरा-कला और पातेपुर में पांच ब्लॉकों में फैले बड़ी संख्या में भूमि भूखंड शामिल थे, जिनकी अनुमानित कीमत 8 करोड़ रुपये थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें