DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारबिहार: नक्सलियों, अपराधियों के लिए मौत का दूसरा नाम है स्नाइपर, आखिर कौन-सी बला है यह स्नाइपर?

बिहार: नक्सलियों, अपराधियों के लिए मौत का दूसरा नाम है स्नाइपर, आखिर कौन-सी बला है यह स्नाइपर?

प्रिय रंजन शर्मा,पटनाSudhir Kumar
Wed, 27 Oct 2021 01:38 PM
बिहार: नक्सलियों, अपराधियों के लिए मौत का दूसरा नाम है स्नाइपर, आखिर कौन-सी बला है यह स्नाइपर?

बिहार पुलिस अब स्वदेशी स्नाइपर से नक्सलियों और अपराधियों को ठिकाना लगाएगी।  स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को जल्द ही स्नाइपर राइफल मिलने वाली है। पुलिस मुख्यालय ने एसटीएफ की जरूरतों को देखते हुए स्नाइपर राइफल खरीदने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। भारत सरकार की डिफेंस पब्लिक सेक्टर यूनिट से यह खरीदारी की जाएगी। राइफल मिलने के बाद एसटीएफ की मारक क्षमता में काफी इजाफा होगा। इसकी मदद से एसटीएफ कमांडो बड़ी से बड़ी चुनौतियों का सामना आसानी से कर सकेंगे।

करीब 3 लाख रुपए है कीमत 

बिहार पुलिस जो स्नाइपर राइफल खरीदने जा रही है वह स्वदेशी है। पश्चिम बंगाल के इच्छापुर स्थित तत्कालीन ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के राइफल फैक्ट्री (अब डिफेंस पब्लिक सेक्टर यूनिट) द्वारा वर्ष 2017 में इसको प्रदर्शित किया गया था। इसकी कीमत करीब 3 लाख रुपए है। इसमें राइफल की कीमत के अलावा टैक्स भी शामिल है। इसमें स्वदेशी गोली का ही इस्तेमाल किया जाता है। इससे पहले जो भी स्नाइपर राइफल भारत में हैं, वह विदेशी हैं। इनकी गोलियां भी विदेश से ही आती हैं। यह विदेश की राइफल के मुकाबले काफी सस्ती है।

एसटीएफ को 20 स्नाइपर दिए जाएंगे

एसटीएफ का गठन संगठित अपराध और नक्सल चुनौतियों से मुकाबला करने के लिए किया गया है। अभी उसके पास कुछ स्नाइपर राइफल हैं पर वह कारगर नहीं रहीं। लिहाजा एसटीएफ की जरूरतों को देखते हुए खरीद की जा रही है। फिलहाल 20 राइफल खरीदी जा रही हैं। इसके लिए पुलिस मुख्यालय जल्द ही संबंधित डिफेंस पब्लिक यूनिट से प्रोफार्मा की मांग करेगी। यह खरीदारी विशेष आधारभूत योजना (स्पेशल इंफ्रास्ट्रक्चर स्कीम) के तहत होनी है।

दूर तक सटीक निशाना लगाने में है सक्षम

स्नाइपर राइफल दूर तक सटीक निशाना लगाने में सक्षम है। विशेष परिस्थितियों में ही इसका इस्तेमाल सुरक्षाबल करते हैं। एसटीएफ के लिए यह हथियार वैसे समय में काफी कारगर होगा, जब अंधाधुंध फायरिंग हो रही होगी। नक्सलियों या अपराधियों द्वारा की जा रही फायरिंग के रेंज में आए बिना एसटीएफ कमांडो स्नाइपर राइफल की मदद से उनको निशाना बना सकते हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें