ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारनालंदा में बिहार पुलिस की दबंगई, गाड़ी ठीक कराने पहुंचे दारोगा और सिपाहियों ने मिस्त्री को पीटा

नालंदा में बिहार पुलिस की दबंगई, गाड़ी ठीक कराने पहुंचे दारोगा और सिपाहियों ने मिस्त्री को पीटा

बिहार के नालंदा जिले में तीन पुलिसकर्मियों ने एक गाड़ी मेकैनिक की बुरी तरह पिटाई कर दी। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

नालंदा में बिहार पुलिस की दबंगई, गाड़ी ठीक कराने पहुंचे दारोगा और सिपाहियों ने मिस्त्री को पीटा
bihar police nalanda beating mechanic
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,बिहारशरीफWed, 15 May 2024 10:45 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के नालंदा जिले में पुलिस की दबंगई देखने को मिली है। यहां एक दारोगा और दो सिपाहियों ने मिलकर वाहन मिस्त्री की सड़क किनारे बुरी तरह से पिटाई कर दी। मामला सिलाव थाना इलाके के सीमा गांव के पास का है। पुलिसकर्मियों द्वारा मेकैनिक की पिटाई का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ है। इसके बाद आला अधिकारियों ने जांच के आदेश दे दिए हैं। 

मौके पर मौजूद किसी शख्स ने इस घटना का वीडियो बना दिया, जो अब जमकर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में तीन पुलिसकर्मी एवं एक युवक वाहन मिस्त्री को बेरहमी से पीटते दिख रहे हैं। युवक शायद पुलिस वाहन का प्राइवेट चालक है। मारपीट करने में दारोगा मनोज कुमार एवं दो अन्य सिपाही शामिल हैं। हालांकि, हिन्दुस्तान वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

पीड़ित वाहन मिस्त्री मो. तैयब का कहना है कि पुलिसकर्मी उनके पास वाहन की मरम्मत कराने आए थे। आधा घंटा रुकने के लिए कहने पर भड़क गए और पीटने लगे। पुलिस का आरोप है कि वाहन मिस्त्री ने उन्हें गाली दी थी। थानाध्यक्ष इरफान ने बताया कि वीडियो उन्हें मिला है। दारोगा से पूछताछ की गई है। 

दारोगा का कहना है कि तीन दिन से गाड़ी में वेल्डिंग कराने के लिए मिस्त्री के पास जा रहे थे। रोज कुछ न कुछ बहाना बनाकर टरका देता था। मंगलवार को भी कुछ देर बाद आने की बात कहकर टालमटोल कर रहा था। इसके बाद वह पुलिसकर्मियों के साथ लौटने लगे तो पीछे से गाली देने लगा। गाली सुनने के बाद उसके साथ मारपीट की गई। घटना की जानकारी वरीय अधिकारियों को दी गई है। निर्देश मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

बिहार में 12 साल की बच्ची से हैवानियत, नशे का इंजेक्शन देकर 4 दिनों तक गैंगरेप

वाहन मिस्त्री ने बताया कि दो दिन पहले उसे बताया गया कि पुलिस वाहन में कुछ खराबी है। उसने मंगलवार सुबह सात बजे वाहन लेकर बुलाया था। पुलिसकर्मी दोपहर में पहुंचे। उस समय वह दूसरी गाड़ी ठीक कर रहा था। उसने आधा घंटा रुकने को कहा। यह सुनते ही पुलिसकर्मी भड़क गए और डंडे एवं थप्पड़ बरसाने लगे। गंदी-गंदी गालियां दी गईं। ग्रामीणों ने बीच-बचाव कर उनकी जान बचाई।