DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहार पंचायत चुनाव: गड़बड़ी रोकने के लिए मतदान और मतगणना की होगी वेबकास्टिंग, तैयारी में जुटा प्रशासन
बिहार

बिहार पंचायत चुनाव: गड़बड़ी रोकने के लिए मतदान और मतगणना की होगी वेबकास्टिंग, तैयारी में जुटा प्रशासन

हिन्दुस्तान संवाददाता,शेखपुराPublished By: Sneha Baluni
Fri, 17 Sep 2021 02:23 PM
बिहार पंचायत चुनाव: गड़बड़ी रोकने के लिए मतदान और मतगणना की होगी वेबकास्टिंग, तैयारी में जुटा प्रशासन

पंचायत चुनाव में किसी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग प्रतिदिन नये आदेश जारी कर रहा है। अब आयोग ने जिला प्रशासन को मतगणना और मतदान की वेबकास्टिंग कराने का आदेश दिया है। हालांकि, मतगणना में वेबकास्टिंग कितने बूथों पर होगा, इसे स्पष्ट नहीं किया गया है। लेकिन, जिला प्रशासन एंड्रायड मोबाइल के सहारे सभी बूथों से वेबकास्टिंग कराने की तैयारी में जुटा है।

जिला पंचायती राज पदाधिकारी अपूर्व कुमार मधुकर ने बताया कि आयोग ने मतगणना और मतदान की वेबकास्टिंग कराने का आदेश दिया है। डीएम से वेबकास्टिंग कोषांग बनाने की सिफारिश की गयी है। उन्होंने बताया कि आदेश स्पष्ट नहीं रहने के कारण सभी बूथों पर मतदान की वेबकास्टिंग कराने को लेकर ऊहापोह है। 

यदि सभी बूथों पर वेबकास्टिंग अनिवार्य हुई तो एंड्रायड मोबाइल के सहारे वेबकास्टिंग कराने का प्रयास किया जायेगा। पंचायत चुनाव को लेकर जिला में अभी 18 कोषांग कार्यरत हैं। वेबकास्टिंग कोषांग बनता है तो कोषांगों की संख्या 19 हो जायेगी।

वज्रगृह पर लगेगा इलेक्ट्रॉनिक ताला

किसी तरह के चुनाव में पहली दफा वज्रगृह में इलेक्ट्रानिक ताला का इस्तेमाल किया जा रहा है। विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा ईवीएम में हेरफेर की शिकायतों के कारण राज्य निर्वाचन आयोग ने इस दफा स्ट्रॉन्ग रूम में इलेक्ट्रॉनिक ताला लगाने का आदेश दिया है। खास यह कि इलेक्ट्रॉनिक ताला निर्वाची पदाधिकारी के हाथ से ही खुल सकता है। जिला में इस दफा महिला कॉलेज और अभ्यास मिडिल स्कूल में स्ट्रॉन्ग रूम बनाये गये हैं। 

अतिरिक्त अधिकारी की तैनाती

राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला में पंचायत चुनाव कराने की जिम्मेवारी जिला पंचायती राज पदाधिकारी को सौंपी है। परंतु, रिटायरमेंट के अंतिम पड़ाव में पहुंच चुके जिला पंचायती राज पदाधिकारी अपूर्व कुमार मधुकर अपनी कार्यशैली के कारण सक्षम साबित नहीं हो पा रहे थे। 

प्रशासनिक सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार डीएम ने डीपीआरओ की कार्यशैली को देखते हुए जिला पंचायती राज विभाग में एक अतिरिक्त अधिकारी के रूप में जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी प्रशांत शेखर को तैनात किया है। इन्हें निर्वाचन शाखा का अधिकारी बनाया गया है। विभाग में योगदान देने के बाद प्रशांत शेखर ने अपना कामकाज भी संभाल लिया है।

संबंधित खबरें