DA Image
28 मार्च, 2020|5:03|IST

अगली स्टोरी

बोर्ड परीक्षाओं के बीच राज्यभर के नियोजित शिक्षक सोमवार से हड़ताल पर

teachers strike in bihar from 17 february  representative image

राज्य भर के नियोजित शिक्षक सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में पठन-पाठन ठप रह सकता है। हड़ताल सफल बनाने को लेकर तमाम शिक्षक संगठनों ने रविवार को बैठकें की और आंदोलन की कार्ययोजना बनायी। 

बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति ने रविवार को बैठक कर फिर एक बार अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा की। समान काम, समान वेतन के साथ सात सूत्री मांगों को लेकर हड़ताल पर शिक्षक रहेंगे। इस दौरान स्कूलों में पठन-पाठन को ठप रखा जायेगा। इसकी जानकारी समिति के प्रदेश अध्यक्ष ब्रजनंदन कुमार ने रविवार को दानापुर में आयोजित एक बैठक में दी। 

समिति के जिला अध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि समिति की तरफ से हर जिले में क्विक रिस्पांस टीम बनायी गयी है। यह टीम सभी स्कूलों में जाकर स्कूल बंद करवायेगी। पोस्ट ऑफिस मैदान में आयोजित बैठक के दौरान जिला सचिव प्रेमचंद ने कहा कि मैट्रिक परीक्षा का बहिष्कार किया जायेगा। साथ में सारे स्कूलों में पठन-पाठन ठप रखा जायेगा। 

दूसरी तरफ टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ का राज्य स्तरीय शिक्षक कन्वेंशन का आयोजन केदार भवन में किया गया। इस दौरान राज्य भर के शिक्षक इकट्ठा हुए। इसमें सभी शिक्षकों ने 17 फरवरी से हड़ताल पर जाने का समर्थन किया। संघ के प्रदेश अध्यक्ष मार्कण्डेय पाठक ने कहा कि 17 फरवरी से 14 मार्च तक राज्य भर में शिक्षक संघर्ष यात्रा निकाली जायेगी। इसके बाद 15 मार्च को शिक्षकों का नागरिक सम्मेलन पटना में एसके मेमोरियल हॉल में किया जायेगा। समान वेतन, सेवाशर्त समेत सहायक शिक्षक और राज्यकर्मी का दर्जा करने की मांग को लेकर बैठक आयोजित की गयी थी। संघ के प्रवक्ता अश्विनी पांडेय ने बताया कि 17 फरवरी से हर जिला मुख्यालयों में शिक्षक घरना पर बैंठेंगे। कन्वेंशन में प्रदेश मीडिया प्रभारी राहुल विकास, कुमार अमिताभ, प्रियरंजन सिंह, ज्ञानप्रकाश, समीर सारस्वत, मुकेश राज, चंदन पटेल, राजनधारी शर्मा, कौशलेंद्र , प्रेमशंकर, पंकज सिंह, वालेश्वर यादव, आशा कुमारी, अनुराधा कुमारी, अमित कुमार, हिमांशु शेखर, मृत्युंजय सिंह, कुंदन सिंह, हरिमोहन यादव, गणेश सिंह, धर्मेंद्र कुमार, अनुज कुमार, सुरेश गुप्ता, संजीव कुमार, बसंत कुमार सिंह, भारतभुषण , अंशु कुमार, आदित्य नारायण, विजय कुमार, प्रवीण कुमार, तरुण कुमार, धर्मेंद्र ठाकुर समेत तमाम जिलों के टीईटी शिक्षक नेता उपस्थित थे।

शिक्षकों की मांग स्वीकार करें राज्य सरकार :  मदन
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने हड़ताल पर जा रहे शिक्षकों का समर्थन किया और राज्य सरकार से इनकी मांग को स्वीकार करने की मांग की। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर 17 जनवरी से प्रदेश के सभी नियोजित और नियमित शिक्षक हड़ताल पर जाने का ऐलान कर चुके हैं। 

डॉ. झा ने रविवार को जारी बयान में राज्य सरकार को चेतावनी दी कि शिक्षकों के प्रति मर्यादित भाषा का प्रयोग करें। सरकार डर और डराने की राजनीति छोड़कर शिक्षकों से सम्मानजनक वार्ता कर समझौता करें। सरकार को यह नहीं भूलना चाहिए कि सरकार बनाने में इन शिक्षकों की अहम भूमिका रही है, लेकिन सरकार शिक्षकों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई। ऐसे में शिक्षकों के पास हड़ताल के सिवा कोई चारा नहीं बचता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bihar Niyojit teachers from across the state are on strike from Monday