DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मुजफ्फरपुर में सड़क हादसों में बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट, पटना के व्यवसायी समेत 3 की मौत
बिहार

मुजफ्फरपुर में सड़क हादसों में बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट, पटना के व्यवसायी समेत 3 की मौत

मुजफ्फरपुर हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Sun, 01 Aug 2021 09:11 PM
मुजफ्फरपुर में सड़क हादसों में बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट, पटना के व्यवसायी समेत 3 की मौत

मुजफ्फरपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) संख्या 77 व 57 पर रविवार को हुए दो बड़े सड़क हादसों में तीन लोगों की मौत हो गयी। पहला हादसा मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी एनएच 77 के हथौड़ी थाना क्षेत्र के गोपालपुर पुल के पास हुआ। यहां बस व स्कॉर्पियो के बीच हुई सीधी टक्कर में पटना के व्यवसायी सुमित कुमार लाल की मौत हो गयी। वहीं, दूसरा हादसा गरहां में हुआ। यहां एक कार व दिल्ली जाने वाली बस से टकरा गई। इसमें कार सवार उत्तर प्रदेश के लखनऊ निवासी बीएसएफ के डिप्टी कमांडेट मारुत शरण पांडेय और उनके चालक दिलीप कुमार की मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं, इन हादसों में दोनों बसों में सवार एक दर्जन अधिक यात्री भी जख्मी हुए हैं। इनका स्थानीय निजी व सरकारी अस्पतालों में इलाज कराया गया। पुलिस ने क्षतिग्रस्त वाहन को जब्त कर लिया है।

उधर, दोनों बस के चालक व खलासी हादसा के बाद बस छोड़कर फरार है। पुलिस शवों का पंचनामा कर उन्हें पोस्टमार्टम के लिए एसकेएसमीएच भेज दिया है। आगे की कानूनी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। परिजनों को भी इसकी सूचना दे दी गई है। देर रात तक उनके एसकेएमसीएच पहुंचने की संभावना जतायी जा रही है। वहीं, दोनों एनएच पर लगातार हो रहे हादसों से स्थानीय लोगों में उबाल और आक्रोश है।

पटना के व्यवसायी गाड़ी से जा रहे थे सीतामढ़ी

पहला हादसा मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी एनएच 77 के हथौड़ी थाना क्षेत्र के गोपालपुर पुल के समीप हुआ। यहां बस और स्कॉर्पियो के बीच सीधी टक्कर हो गयी। हादसे में स्कॉपियो सवार एक व्यक्ति की मौत मौके पर ही हो गयी। वहीं, चालक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। इसके अलावा बस में सवार 40 यात्रियों में से कुछ को चोट आयी। हादसे के बाद मौके पर स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गयी। पुलिस भी पहुंची और शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। मृतक की पहचान पटना के महेंद्रू निवासी अजीत कुमार लाल के पुत्र सुमित कुमार लाल के रूप में हुई है। वहीं, चालक मो. नसीम है। टक्कर में स्कॉर्पियो के परखचे उड़ गए। वहीं, बस के आगे का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। बस सीतामढ़ी से मुजफ्फरपुर आ रही थी। व्यवसायी सीतामढ़ी की ओर जा रहे थे। वह सीतामढ़ी में किराये के मकान में रहकर वहीं अपना कारोबार करते थे। डीएसपी ईस्ट मनोज पांडेय ने बताया कि हादसे में एक व्यक्ति की मौत हुई है। दूसरे का इलाज जारी है। पुलिस बस और स्कॉर्पियो को जब्त कर फरार बस चालक व खलासी की तलाश में जुट गयी है।

अहियापुर में डिप्टी कमांडेंट व उनके चालक की मौत

दूसरा हादसा अहियापुर और बोचहां के सीमावर्ती इलाके गरहां में हुआ। इस दौरान दिल्ली जाने वाली बस ने कार में ठोकर मार दी। हादसे में कार के परखचे उड़ गए। उसमें सवार दोनों व्यक्ति की मौत हो गयी। बस भी क्षतिग्रस्त हो गयी। उसपर सवार यात्री भी चोटिल हुए। हादसे के बाद बस में चीख पुकार मच गया। यात्री आनन-फानन में बस से उतर भागने लगे। टक्कर की आवाज सुनकर स्थानीय लोगों भी पहुंच गए। इसकी सूचना मिलते ही अहियापुर थाने की पुलिस व क्यूआरटी पहुंची। कार में फंसे दोनों लाशों को गैस कटर से काटकर बाहर निकाला गया। तलाशी के दौरान उनके पास से मिले आधार और आई कार्ड से उनकी पहचान हुई। 
अहियापुर थानेदार ने बताया कि मृत व्यक्तियों में एक बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट मारुत शरण पांडेय (41 वर्ष) और उनके कार का चालक दिलीप कुमार है। डिप्टी कमांडेंट उत्तर प्रदेश के लखनऊ के आशियाना थाना क्षेत्र के पावापुरी कॉलोनी स्थित देवीखेरा रिंग रोड के रहने वाले थे। फिलहाल वे किशनगंज में पोस्टेड थे। छुट्टी के बाद किशनगंज ड्यूटी पर अपनी कार से जा रहे थे। शनिवार रात वे लखनऊ से निकले थे।

संबंधित खबरें